Author :

  • ग़ज़ल

    ग़ज़ल

    थारा आटोग्राफ फोटो दुपट्टा चाहिए था कहा रहती थारे घर का पता चाहिए था थारे पे एक किताब लिखने का मन है थारे से एक बार मुझे मिलना चाहिए था सोचता जिंदगी खुशियो से भर जाती...

  • ग़ज़ल

    ग़ज़ल

    किसी से कुछ भी अब छुपाने का नईं जो कसम खाई हो तो बताने का नईं बदल गया है दौर बदला है जमाना भरोसा अब करना ज़माने का नईं ग़म में डूबे हो फ़िर भी मुस्कुराते...

  • ग़ज़ल

    ग़ज़ल

    तेरे दिल के किसी कोने में रहता हूँ मैं तू कहेगी नही ये बात जानता हूँ मैं लोगों को लगता कि मैं पागल हो गया आईने से हर रोज़ यही पूछता हूँ मैं हम तो है...

  • गीतिका

    गीतिका

    जिम्मेदारियों का जरा भी अहसास नही है ! लगता है उसे खुद पर विश्वास नही है !! कुछ ऐसे दिन दिखाए है ज़माने ने उसको ! कि खुशियों की अब उसे तलास नही है !! सारी...

  • क्या गलत कह दिया

    क्या गलत कह दिया

    चाँद को चाँद कह दिया तो क्या गलत कह दिया ! हमने अपनी मेहबूबा को मोहब्बत कह दिया !! पागलपन जिसे लोगो ने कहा है हमारा ! उसे हमने अपनी उल्फ़त कह दिया !! चाहते है...

  • देवी गीत

    1. अंबा माँ मोहनी मूरत तुम्हारी चक्र गदा त्रिशूल तलवार धारी अंबा माँ ……. 2. ममतामयी मनमोहनी मूरत करुणामयी बड़ी सोहिनी प्यारी अंबा माँ ……. 3. सुन्दर इतनी मुँह से बोले सत्य शिव सुन्दर मनोहारी अंबा...

  • कन्या भ्रूण हत्या

    कन्या भ्रूण हत्या

    गर्भ में बेटी पले मार दी जाती है अजन्मी बेटी दुनिया देख नही पाती है सभी कहते है कुल का दीपक बेटे को ये बेटिया भी किसी वंश को बढ़ाती है अक्सर भेदभाव करते लोग बेटी...

  • ग़ज़ल

    ग़ज़ल

    तूने खत मुझको किसलिए भिजवाया था ! जानना चाहती हो क्या समझ न आया था !! तुझको दिल दे चुका था उस दिन ही अपना ! तेरी आँखो से अपनी आँखे जब मिलाया था !! ख्याल...

  • ग़ज़ल

    ग़ज़ल

    गलतियों पर तेरी पर्दा डालेंगे नही हम ! जो फँस जायेगा मुसीबत में निकालेंगे नही हम !! सुख दुःख में तू हमारे भागीदार नही था ! लिहाज किसी का भी अब पालेंगे नही हम !! धन,दौलत,इज्जत,शौहरत...

  • ग़ज़ल

    ग़ज़ल

    जो दिल तुझसे मैंने लगाया न होता ! तो दिल आज मेरा पछताया न होता !! आँखों से मेरी यूँ आँसू न बहते ! जो प्यार को मेरे ठुकराया न होता !! जीस्त में मेरी भी...