ग़ज़ल लिखते हैं…..

चलो एक खूबसूरत ग़ज़ल लिखते हैं |
यूंही उलझे-सुलझे शामो सहर लिखते हैं |
कहीं ज़िन्दगी की कोई असलियत लिखते हैं |
कहीं कल्पनाओं के सफ़र लिखते हैं |
चलो एक खूबसूरत……..
कहीं सब कुछ पाकर भी कोई हो परेशाँ |
कहीं अगर मिल जाए किसी से कोई |
यूंही बिछड़ने का सबब लिखते हैं |
कुछ मुस्कुराहटों के पल लिखते हैं |
चलो एक खूबसूरत ग़ज़ल लिखते हैं |||
— कामनी गुप्ता

परिचय - कामनी गुप्ता

माता जी का नाम - स्व.रानी गुप्ता पिता जी का नाम - श्री सुभाष चन्द्र गुप्ता जन्म स्थान - जम्मू पढ़ाई - M.sc. in mathematics अभी तक भाषा सहोदरी सोपान -2 का साँझा संग्रह से लेखन की शुरूआत की है |अभी और अच्छा कर पाऊँ इसके लिए प्रयासरत रहूंगी |