Monthly Archives: August 2015


  • ग़ज़ल

    ग़ज़ल

    डेरा हर तरफ़ भूख और बेबसी ने डाला हैं,, खुदा के कर्म से मेरी थाली में निवाला हैं !! क़दम जो डगमगाए मेरे दुनिया की बातों से,, हमें बस दोस्तों की मोहब्बत ने संभाला हैं !!...