कविता

बस प्यार होना चाहिए,

 

प्यार में सौदा नहीं बस प्यार होना चाहिए,
आदमी जैसा भी हो दिलदार होना चाहिए,
काफिला दर काफिला कोई सफ़र दरकार है,
मुश्किलों में रास्ता हमवार होना चाहिए,
मंजिलों की राह पर बड़ते ही जायेगें कदम,
कारवां का रहनुमाँ दमदार होना चाहिए,
अब सुदामा और कृष्ण इस जमाने में कहाँ,
दोस्ती जिंदा रहे ऐतबार होना चाहिए,
फिर जरूरत है यहाँ पर गीता के उपदेश की
श्री कृष्णजी का अब यहाँ अवतार होना चाहिए

…जय प्रकाश भाटिया

 

 

 

परिचय - जय प्रकाश भाटिया

जय प्रकाश भाटिया जन्म दिन --१४/२/१९४९, टेक्सटाइल इंजीनियर , प्राइवेट कम्पनी में जनरल मेनेजर मो. 9855022670, 9855047845

Leave a Reply