कविता : विकसित हिंदुस्तान

आओ विकसित देश बनाएँ
विज़न दो हज़ार बीस अपनाएं
सुंदर प्रकृति को हम बचाएं
गीत खुशी के मिलकर गाएँ
मरुस्थल के हम शूल हटाएँ
श्रम कर हम अन्न उपजाएँ
हरियाली चहुँ ओर फैलाएं
रंग बिरंगे सुमन खिलाएँ
सागर को भी लांघ जाएं
प्रगति पथ पर बढ़ते जाएं
अपना हुनर भी दिखाएं
विकसित हिंदुस्तान बनाएं
देश में प्रोधोगिकी बढ़ाएं
और प्रक्षेपण यान बनाएँ
तकनीकी हम ज्ञान सिखाएं
मन से अंधविश्वास मिटाएँ
निष्काम कर्म नित करते जाएँ
अर्जुन सा एक लक्ष्य बनाएँ
अवसादों से कभीे न घबराएं
आशाओं के फूल खिलाएं
देश हित मिल कदम बढ़ाएं
वन्दे मातरम गान सुनाएँ
मिसाइल मेन के स्वप्न बताएं
आओ विकसित देश बनाएँ
source site कवि राजेश पुरोहित
भवानीमंडी

परिचय - राजेश पुरोहित

पिता का नाम - शिवनारायण शर्मा माता का नाम - चंद्रकला शर्मा जीवन संगिनी - अनिता शर्मा जन्म तिथि - 5 सितम्बर 1970 शिक्षा - एम ए हिंदी सम्प्रति अध्यापक रा उ मा वि सुलिया प्रकाशित कृतियां 1. आशीर्वाद 2. अभिलाषा 3. काव्यधारा सम्पादित काव्य संकलन राष्ट्रीय स्तर की पत्र पत्रिकाओं में सतत लेखन प्रकाशन सम्मान - 4 दर्ज़न से अधिक साहित्यिक सामाजिक संस्थाओं द्वारा सम्मानित अन्य रुचि - शाकाहार जीवदया नशामुक्ति हेतु प्रचार प्रसार पर्यावरण के क्षेत्र में कार्य किया संपर्क:- 98 पुरोहित कुटी श्रीराम कॉलोनी भवानीमंडी जिला झालावाड़ राजस्थान पिन 326502 मोबाइल 7073318074 Email 123rkpurohit@gmail.com