इस देश के सपूत तुमने कर दिया कमाल

आदरणीय मोदी जी को जन्मदिन पर समर्पित–

दे दी हमें ‘आजादी’ बिना खडग बिना ढाल
इस देश के सपूत तुमने कर दिया कमाल

जब तुम्हे कुर्सी मिली, सब उम्मीदें जग गई
भारत माँ की सेवा करने के लिए होड़ लग गई
मेरे देश की जनता तो अब हो जाएगी निहाल
इस देश के सपूत तुमने कर दिया कमाल

न मन में है रिश्वत की ललक, न झूठी ‘सफेदी’
दिल में है सच्ची सोच और बातों में उम्मीदी
अब कोई न कर सकेगा फिर इस देश को कंगाल
इस देश के सपूत तुमने कर दिया कमाल

अब जब आ गए हो तुम इस देश के सपूत
अब भाग कर जायेंगे यहाँ से कई ‘यमदूत’
यह सब बने फिरते थे यहाँ वोट के दलाल
इस देश के सपूत तुमने कर दिया कमाल

जो ले गये विदेश यहाँ से इतना काला धन
इस पाप कर्म से अब तड़पेगा उनका मन
‘मोदीराज’ के दरबार में बरसेगा इन पे काल
इस देश के सपूत तुमने कर दिया कमाल

अब आप ही करेंगें यहाँ इस देश का उद्धार
हम सब मिल करेंगें भारत माता का सत्कार
हम साथ आपके हैं , हम देते हैं यह विश्वास
दुनिया में आप रच रहे हो इक नया इतिहास
‘मोदीराज’ में हर जन यहाँ हो जायेगा खुशहाल
इस देश के सपूत तुमने कर दिया कमाल

जय प्रकाश भाटिया
(महाकवि प्रदीप जी से क्षमा याचना सहित).

परिचय - जय प्रकाश भाटिया

जय प्रकाश भाटिया जन्म दिन --१४/२/१९४९, टेक्सटाइल इंजीनियर , प्राइवेट कम्पनी में जनरल मेनेजर मो. 9855022670, 9855047845