सामाजिक

चार व्यापार-जो लॉकडौन के बाद सबसे तेजी से बढ़ेंगे

आज कोरोना महामारी के कारण हमे जो नुकसान हुआ हैं इसकी भरपाई की जिम्मेदारी जितनी सरकार की हैं उतनी हमारी भी है। किसी भी देश को आगे ले जाने में वहाँ रहने वाले लोगों का सबसे बड़ा योगदान होता हैं। आज के इस बिगड़े हुए हालात में अब ये हमारी जिम्मेदारी बनती हैं कि हम सब कंधे से कंधा मिला कर अपने देश की धराशाई हुई अर्थव्यवस्था को फिर से उठाएं और आत्मनिर्भर भी बनाएं। आज मैं आपको चार ऐसे व्यापार के बारे में बताने जा रहा हूं जो इस लॉकडाउन के बाद काफी ज्यादा चलने वाले हैं।

पहला, स्वास्थ संबंधी उत्पाद बेचना।

आज के समय मे जब पूरी दुनिया मे मास्क लगाने और सैनिटाइजर का प्रयोग करने पर जोर दिया जा रहा है तो ऐसे मे इसकी बिक्री में काफी ज्यादा उछाल देखने को मिला हैं।इसमे कोई दो राय नही कि आने वाले दिनों में और भी ज्यादा देखने को मिलेगा। ये आप सब के लिए एक अच्छा मौका ह।बेशक,यदि आप इसका उत्पादन शुरु करते हैं तो काफी मुनाफा कमाया जा सकता हैं और इसकी बिक्री के लिए बाजार में खरीदारों की कोई कमी नही हैं। आप सरकारी संस्थान, निजी कंपनिया, शिक्षा संस्थान से संपर्क कर के ज्यादा मात्रा में ऑर्डर ले सकते हैं जिससे मुनाफा भी ज्यादा होगा।

दूसरा, वस्तुओं की होम डिलीवरी।

इसमे कोई दो राय नही हैं कि लॉकडाउन समाप्त होने के बाद भी लोग बाहर निकलने से कतराने वाले हैं, और ज्यादा से ज्यादा लोग कोशिश करेंगे कि जरूरत की चीज़ें घर पे ही मुहैया हो जाये और इसी कारण ऑनलाइन डिलीवरी का व्यापार भी काफी ज्यादा पनपने वाला हैं। अगर आप कूरियर सर्विस, या फिर ऑनलाइन फूड डिलीवरी, किराना के डिलीवरी इत्यादि का व्यापार शुरु करते हैं तो ये बहुत अच्छा फैसला साबित हो सकता हैं।

तीसरा, ऑनलाइन शिक्षा।

अभी तक आप समझ ही चुके होंगे कि इसका महत्व क्या हैं, आज जब हम बाहर जा नही सकते तो कॉलेज, स्कूल जा कर शिक्षा ग्रहण करना भी जरा मुश्किल हो गया हैं, जिसके मद्देनज़र कई शिक्षा संस्थाओं ने ऑनलाइन क्लासेस शुरु कर दिया है। अगर आप किसी भी विषय में अच्छे हैं तो आप ऑनलाइन ट्यूटर बन सकते हैं, इसका सबसे बड़ा फायदा ये हैं कि आप दुनिए के किसी भी कोने मे अपने छात्र बना सकते हैं और इसके लिए न तो अपको उनके पास जाने की जरूरत हैं और न उन्हें आपके पास आने की लेकिन इसके लिए आपके और आपके छात्र के पास इंटरनेट कनेक्शन होना चाहिए जो कि आज कल आसानी से उपलब्ध हो जाता हैं।

चौथा, निर्यात करना।

जैसे कि आप जानते हैं किसी भी देश को आगे बढ़ाने के लिए निर्यात को बढ़ाना जरूरी हैं, क्योंकि इससे विदेशी मुद्रा देश मे आती हैं जिसके परिणामस्वरूप देश समृद्ध बनता हैं। आज पूरे देश को आत्मनिर्भर बनाने की बात चल रही हैं और दूसरे देशों पर हमारी निर्भरता कम करने के प्रयास किये जा रहे हैं और भारत में वस्तुओं के उत्पादन पर जोर दिया जा रहा हैं, अगर आप किसी भी वस्तु के निर्यात करने का व्यापार शुरु करने की सोच रहे हैं तो आप बिलकुल सही दिशा में जा रहे हैं। अब सरकार भी इसको बढ़ावा देने के लिए कदम उठा रही हैं। इस व्यापार से आपको अच्छा मुनाफा हो सकता है। साथ ही साथ सरकार भी आपको अलग से इनसेंटिव भी देती हैं। किसी भी वस्तु का निर्यात का व्यापार काफी ज्यादा फायदे का सौदा हो सकता हैं।

व्यापार करना और उसे बढ़ावा देना सिर्फ एक इंसान के लिए ही नही बल्कि पूरे समाज और देश के लिए फायदेमंद होता हैं और कोई भी व्यापार बिना ग्राहक के नही चलता। अर्थात हमे अपने व्यापार को ग्राहकों की जरूरतों के साथ बदलना पड़ता हैं, जो इस कला को सिख गया वो ही एक अच्छा और बड़ा व्यपारी बनता हैं। लॉक डाउन के पहले की जिंदगी और बाद की जिंदगी में काफी फर्क होने वाला हैं और इंसान की जरूरतें भी उसी प्रकार बदल रही हैं और आगे भी बदलने वाली हैं।यह भी सच है कि व्यपारियों को भी मनुष्य की जरूरतों के साथ खुद को बदलना होगा। जो समय के साथ नही बदला उसका विकास असंभव हैं चाहे वह एक नौकरी करने वाला व्यक्ति हो या व्यापारी।

— सोनल सिन्हा

परिचय - सोनल सिन्हा

फाउंडर - MyBhkFlat Mumbai

Leave a Reply