इतिहास लेख

स्वतंत्रता सेनानी नक्षत्र मालाकार

‘नक्षत्र मालाकार’ पर कई किंवदंती है, जो गलत है ! स्वतंत्रता सेनानी नक्षत्र मालाकार का प्रखंड और मेरा प्रखंड दोनों की सीमा कई किलोमीटर स्पर्श करती है। अगर shortcut रास्ता मापी जाय, तो मेरा घर और स्व. मालाकार के घर की बीच की दूरी मात्र 25 किलोमीटर है ! स्व. फणीश्वरनाथ रेणु जी ने तब जो जानकारी दी थी (‘मैला आँचल’ में चलित्तर कर्मकार के रूप में), उनमें कई खामी हैं ! उनके बारे में सही तथ्य प्रस्तुत नहीं किया गया है।

स्व. नक्षत्र मालाकार के बेहद निकटतम सम्बन्धी स्व. मोरध्वज मालाकार और स्व. जितेन्द्रनाथ वर्मा के परिवार का आवास और मेरे घर के बीच की दूरी मात्र 25 कदम है, जो मेरे ही वार्ड में है । मैंने अपने दादाजी, मोरध्वज दादा, जीतेन दादा इत्यादि से इनके बारे में जाना, खुद गवाह भी रहा।

स्व. नक्षत्र मालाकार कभी चरवाहा नहीं रहे ! नाक-कान काटे जाने की बात सिर्फ महाजनों, जमींदारों आदि द्वारा फैलाई गई है, ताकि ब्रिटिश पुलिस उन्हें जल्द से जल्द गिरफ्तार कर ले ! क्षेत्र के बूढ़े-पुराने लोग ऐसा कुछ नहीं जानते ! किन्तु उन्हें रॉबिन हुड के तौर पर जरूर जानते हैं कि वे धनियों से धन इकट्ठा कर गरीब की बेटियों के ब्याह हेतु बाँट दिया करते थे ! इस अलख कृतित्व के स्वामी पर मैं पिछले कुछ वर्षों से एक किताब लिख रहा हूँ, जो पूर्ण होने को है !

परिचय - डॉ. सदानंद पॉल

तीन विषयों में एम.ए., नेट उत्तीर्ण, जे.आर.एफ. (MoC), मानद डॉक्टरेट. 'वर्ल्ड रिकॉर्ड्स' लिए गिनीज़ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स होल्डर, लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड्स होल्डर, इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड्स, RHR-UK, तेलुगु बुक ऑफ रिकॉर्ड्स, बिहार बुक ऑफ रिकॉर्ड्स होल्डर सहित सर्वाधिक 300+ रिकॉर्ड्स हेतु नाम दर्ज. राष्ट्रपति के प्रसंगश: 'नेशनल अवार्ड' प्राप्तकर्त्ता. पुस्तक- गणित डायरी, पूर्वांचल की लोकगाथा गोपीचंद, लव इन डार्विन सहित 10,000+ रचनाएँ और पत्र प्रकाशित. भारत के सबसे युवा संपादक. 500+ सरकारी स्तर की परीक्षाओं में क्वालीफाई. पद्म अवार्ड के लिए सर्वाधिक बार नामांकित. कई जनजागरूकता मुहिम में भागीदारी.

Leave a Reply