गीतिका/ग़ज़ल

ग़ज़ल

अच्छी नही यार से ये करते हो क्यो ऊँचे बात
करके देखो न कभी तुम भी ये सच्ची बात
ये हडबडी जो बोल दी तुमने
क्या कहा है कभी ये तुमने सोची बात॥
आँखो की देखी को मानते है हम तो
हम न मानेगे कभी ये अन देखी बात॥
यार के बीच मे तो ये जरुरी है
दुश्मनो के बीच कहा होती ऐसी बात
— आभिषेक जैन

परिचय - अभिषेक जैन

माता का नाम. श्रीमति समता जैन पिता का नाम.राजेश जैन शिक्षा. बीए फाइनल व्यवसाय. दुकानदार पथारिया, दमोह, मध्यप्रदेश

Leave a Reply