इतिहास

लौह मानव

इंदिरा शहीदी दिवस : लौह पुरुष के साथ-साथ ‘लौह महिला’ को भी हम याद रखें कि 31 अक्टूबर भारतीय इतिहास में एक महत्वपूर्ण तिथि के रूप में दर्ज है ।

इसदिन देश के प्रथम गृह मंत्री व उपप्रधानमंत्री सरदार वल्लभ भाई पटेल का जन्मदिन है, तो इसी दिन प्रथम महिला प्रधानमंत्री इंदिरा गाँधी की नृशंस हत्या उन्हीं के अंगरक्षकों ने कर दी थी । यह ब्लैक डेट भी इतिहास में काली अध्याय के रूप में जुड़ी है।

जब हम पटेल के जन्मदिवस ‘राष्ट्रीय एकता दिवस’ के रूप में मना रहे हैं, तो एक अन्य प्रधानमंत्री की नृशंस हत्या को नजरअंदाज कर तो कतई नहीं मना पाएंगे ।

माना कि इंदिरा गाँधी ने आपातकाल लगा कर गलतियाँ की, किन्तु उनके हिस्से पाकिस्तान को सबक सिखाने की ‘आयरन लेडी’ वाली छवि भी तो है, जब लाहौर तक हमारी सेना पहुँच गयी थी । वे तो खालिस्तान के विरुद्ध अपने को बलिदान कर दी । हमें उनकी बलिदान दिवस को भी रखनी चाहिए।

परिचय - डॉ. सदानंद पॉल

तीन विषयों में एम.ए., नेट उत्तीर्ण, जे.आर.एफ. (MoC), मानद डॉक्टरेट. 'वर्ल्ड रिकॉर्ड्स' लिए गिनीज़ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स होल्डर, लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड्स होल्डर, इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड्स, RHR-UK, तेलुगु बुक ऑफ रिकॉर्ड्स, बिहार बुक ऑफ रिकॉर्ड्स होल्डर सहित सर्वाधिक 300+ रिकॉर्ड्स हेतु नाम दर्ज. राष्ट्रपति के प्रसंगश: 'नेशनल अवार्ड' प्राप्तकर्त्ता. पुस्तक- गणित डायरी, पूर्वांचल की लोकगाथा गोपीचंद, लव इन डार्विन सहित 10,000+ रचनाएँ और पत्र प्रकाशित. भारत के सबसे युवा संपादक. 500+ सरकारी स्तर की परीक्षाओं में क्वालीफाई. पद्म अवार्ड के लिए सर्वाधिक बार नामांकित. कई जनजागरूकता मुहिम में भागीदारी.

Leave a Reply