बाल कविता

हाथी दाँत

इक दिन हाथी ज़ोर से चीखा दर्द हुआ था दाँत में तीखा. दौड़ी भागी हथिनी आई कान पकडकर डॉक्टर लाई . डॉक्टर ने पूछे कई सवाल खूब करी फिर जांच पड़ताल. बहुत सोचकर बोला डॉक्टर, “बिगड़ गई है बात यहाँ पर अब तो है बस यही उपाये झट से दाँत निकाला जाये.” डर से उड़ […]