लेख

नारी का संघर्ष: तब, कल और आज!!

कभी माँ, कभी बहन, कभी भाभी, तो कभी नानी और न जाने कितने रिश्तों  को कई रूपों में  युगों – युगों से नारी निभाती आ रही है। हर देशकाल और परिस्थितियों में अपने अस्तित्व को बनाए रखने के लिए नित्य संघर्ष करती नारी को हमारी सनातन संस्कृति में  देवी के रूप में पूजनीय  माना गया […]

सामाजिक

साक्षर होने का अर्थ है खुद के सम्मान के प्रति जागरूक

(अंतरराष्ट्रीय साक्षरता दिवस 08 सितम्बर विशेष)                 साक्षरता का अर्थ, मनुष्य के साक्षर अर्थात पढ़ने – लिखने की क्षमता से होता है किंतु, साक्षरता मनुष्य के पढ़े-लिखे होने के साथ-साथ सम्मान, अवसर और विकास से जुड़ा विषय है। जिससे व्यक्ति अपने साथ-साथ अपने परिवार, समाज और देश के […]

सामाजिक

कोरोना की तीसरी लहर : जागरूक भी सुरक्षा भी’

वर्तमान में हम सभी कोरोना की दूसरी लहर का ही सामना कर रहे हैं। जिसके बारे में हमने सोचा तक नहीं था कि, दूसरी लहर जैसा भी कुछ आएगा। हम सब बेफिक्र होकर रहने लगे। जब आशंका ही नहीं थी तो सरकार और हमारे द्वारा कोरोना से लड़ने के लिए किसी प्रकार की तैयारी भी […]

लेख

कोविड वैक्सीन से भयभीत नहीं जागरूक हों

         बीता हुआ वर्ष तथा नए वर्ष के प्रवेश में पूरा विश्व ‘कोरोना क्राइसिस’ से गुजरा है। जिससे अभी भी हमने पूरी तरह से निजात नहीं पाई है।  हम सबके लिए अच्छी खबर यह है, कि कोरोना के बचाव के लिए वैक्सीन को खोज लिया गया है और खोज के साथ-साथ इसका […]

सामाजिक

देश में महिला सशक्तिकरण का उदाहरण प्रस्तुत करती महिलाएं

     दो दिन पूर्व मैंने एक बड़े समाचार पत्र में पढ़ा कि वर्तमान  भारत की महिलाएं कैसे खुद को कैसे सिद्ध कर रही हैं।  एक साक्ष्य सामने आया है, कि रेलवे में किस प्रकार से महिलाओं ने अपना सशक्तिकरण प्रस्तुत किया, जिसके अंतर्गत देश में पहली बार मालगाड़ी चलाने वाली एक महिला है और […]

लेख

भय नहीं जागरूकता आवश्यक है

गणेश चतुर्थी भारत देश में दस दिनों तक हिंदुओं द्वारा मनाया जाने वाला प्रमुख त्यौहार है। हिंदू धर्म की मान्यता के अनुसार भगवान श्री गणेश प्रथम पूजनीय है। यह त्यौहार भाद्रपद माह के शुक्ल पक्ष की चतुर्थी तिथि को मनाया जाता है। इस वर्ष गणेश चतुर्थी का यह उत्सव 22 अगस्त को और विसर्जन 31 […]

लेख

हालात मुश्किल हैं नामुमकिन नहीं

त्यौहारों का मौसम शुरू हो चुका है,किंतु यह वर्ष हम सबके लिए एक सामान्य वर्ष जैसा नहीं है। प्रति वर्ष हम हर त्यौहार को बड़ी ही धूम-धाम से मनाते हैं, किंतु इस वर्ष सब समस्याओं की गिरफ्त में हैं। हम सब भली – भांति जानते हैं कि इस समय भारत ही नहीं पूरा विश्व ही […]

लेख

हरितालिका तीज व्रत दाम्पत्य जीवन की प्रगाढ़ता का पर्व’

भारत एक विशाल विविधता, कई संस्कृतियों और अलग-अलग परंपराओं को मनाने वाला देश है, जिनमें से कुछ त्यौहार और संस्कृतियाँ विलुप्त सी हो गई हैं और कुछ वर्तमान में आज भी चली आ रही हैं। इन्हीं में से एक हरितालिकातीज।     भारत के कई राज्यों में हरितालिका तीज को एक त्यौहार के रूप  में […]

लेख

नाग पंचमी नाग पूजन, धर्म और विज्ञान

नाग पंचमी विश्व के कई देशों में मनाया जाने वाला त्यौहार है। इसे श्रावण शुक्ल पंचमी तिथि में मनाया जाता है।  ऐसी मान्यता है,कि इस दिन नाग देवता की पूजा और रुद्राभिषेक करने से भगवान शंकर प्रसन्न होते हैं। नाग की पूजा में नाग को दूध पिलाया जाता है। यह भी मान्यता है कि सर्प […]

सामाजिक

कोरोना काल में गृहणियों की चिन्ता

  भारत के साथ -साथ पूरा विश्व ही कोरोना जैसी महामारी से जूझ रहा है। अगर हम बात करें भारत की गृहणी की तो इनकी तो बात ही अलग है देखा जाए तो गृहणी किसी भी देश की हो उसका योगदान महत्वपूर्ण ही होता है। एक गृहणी जो पूरे घर का आधार होती है। उसके […]