Author :

  • लघुकथा- शार्टकट

    लघुकथा- शार्टकट

    छात्रों को तन्मयता से पढ़ाते हुए दिनेश को मालूम ही नहीं पड़ा कि उसके वरिष्ठ शिक्षक दीनदयाल जी कब आ गए .चौंककर उसने कहा, “आइए गुरुजी. बैठिए. कोर्स बहुत ज्यादा है इसलिए जल्दी-जल्दी पढ़ाना पड़ता है...