Author :


  • अभिनन्दन

    अभिनन्दन

    अभिनंदन का अभिनंदन है आदर है स्वागत वंदन है, जिसने दुश्मन की छाती पर चढ़कर यह खुल्ला बोल दिया, जो पाकिस्तान की धरती पर। जाकरके हल्ला बोल दिया उस वीर सपूत के चरणों में, बारंबार ये...


  • तेरी याद

    तेरी याद

    तेरी जब याद आती है, तो दिल रोता बिलखता है, तेरी तस्वीर देखे तो ये पागल सा मचलता है, तेरी यादों केे घेरे ने ये डाले कैसे हैं बंधन, दिवाना था दिवाना है ये गिरता और...