अर्थ ऑवर: आज की आवश्यकता

आज अर्थ ऑवर है. ग्लोबल वॉर्मिग के खतरे से धरती को बचाने के लिए हर वर्ष मार्च में अर्थ ऑवर मनाया जाता है. पूरे विश्व में इस दिन लोग धरती को बचाने के लिए कार्बन डॉयक्साइड का कम उत्कर्षण करने की शपथ लेते हैं. पिछले साल 25 मार्च, 2017 को ऊर्जा बचत का वैश्विक अभियान ‘अर्थ ऑवर’ संपूर्ण विश्व में 8:30 P.M. से 9:30 P.M. तक मनाया गया. इस वर्ष अर्थ ऑवर पृथ्वी के सातों महाद्वीपों के 198 देशों में मनाया जा रहा है. इस अयोजन में राष्ट्रपति भवन सहित कई इमारतों में एक घंटे के लिए बत्तियां बुझा दी जाएंगी. जनता से इस आयोजन को सफल बनाने की अपील की जा रही है. इस वैश्विक अभियान की शुरूआत वर्ष 2007 में सिडनी, ऑस्ट्रेलिया से हुई थी.

 

इसका उद्देश्य है- लोगों को यह बताना कि घरों को रोशन करने के लिए सरकार से सब्सिडी प्राप्त कर कैसे सोलर प्राप्त किया जाए. धरती को बचाने के लिए बिजली का उपयोग कम करना ही होगा, लेकिन बिना बिजली जीवन की कल्पना भी नहीं की जा सकती. ऐसे में सौर ऊर्जा ही एकमात्र विकल्प है. लोगों को भी और सरकार को भी इसपर अब गंभीरता से सोचना होगा. बिजली कंपनियां तो हर साल अपना शुल्क बढ़ाती जाएगी, लेकिन एक बार सोलर प्लेट लगाकर हम 25 वर्ष तक सौर ऊर्जा से निःशुल्क बिजली ले सकते हैं. सरकार सोलर प्लेट लगानेवाले लोगों को ज्यादा से ज्यादा सब्सिडी देने की पहल कर रही है, ताकि लोग इसे सहजता से लगा सकें. सरकार सब्सिडी देगी तो इसका व्यवसायिक इस्तेमाल भी होगा. तब तक लोगों को सोलर लैंप और अन्य छोटे उपकरणों का उपयोग शुरू करना चाहिए, जिससे बिजली की बचत होगी और धरती की रक्षा.

 

कृपया आज अर्थ ऑवर पर शनिवार को रात 8:30 से लेकर 9:30 तक घरों और प्रतिष्ठानों की गैरजरूरी बत्तियां भी बंद रखें.

परिचय - लीला तिवानी

लेखक/रचनाकार: लीला तिवानी। शिक्षा हिंदी में एम.ए., एम.एड.। कई वर्षों से हिंदी अध्यापन के पश्चात रिटायर्ड। दिल्ली राज्य स्तर पर तथा राष्ट्रीय स्तर पर दो शोधपत्र पुरस्कृत। हिंदी-सिंधी भाषा में पुस्तकें प्रकाशित। अनेक पत्र-पत्रिकाओं में नियमित रूप से रचनाएं प्रकाशित होती रहती हैं।