कविता- क़ुरबानी

शौर्य त्याग बलिदान की कहानी लिखेंगे

हम हिन्द के निवासी हिंदुस्तानी लिखेंगे।
जो कर गए प्राण निछावर अपने देश के लिए
उन्ही वीरो की आज हम क़ुरबानी लिखेंगे।
सुभाष चंद्र बोस और आजाद की कहानी लिखेंगे
हम हिन्द के निवासी हिंदुस्तानी लिखेंगे।
झूले हँस कर के फाँसी के तख्ते पर जो
उन वीरो की हम क़ुरबानी लिखेंगे।
छातियाँ खोलकर बड़े शौक़ से
गोलिया जिन्होंने है खाई वतन के लिए
ऐसे शहीदों की हम शौर्य कहानी लिखेंगे।
कैद खाने गए,घर जलाये गए
अपना सब कुछ लुटाया वतन के लिए
ऐसे शहीदों की हम मेहेरबानी लिखेंगे।
राष्ट्र प्रेम के दीवानों की हम कहानी लिखेंगे।
मातृभूमि के लिए जिन्होंने है सब कुछ वारा
ऐसे वीरो की शौर्य कहानी लिखेंगे।
जिस माटी में जन्म  लिया ये माटी है
तन से बढ़कर
वीरो की थाती का मान लिखेंगे।
पटेल जी जैसे महापुरुष का सम्मान लिखेंगे।
हम हिंदुस्तानी है भारत महान लिखेंगे
जो सिमट गए इतिहासों में उनकी शान लिखेंगे।
तिरंगे में लिपटकर आये जो ,
उनका गौरवगान लिखेंगे।
झांसी की रानी का शौर्य
और बलिदान लिखेंगे।
जो कर गए प्राण निछावर
हमें आजादी देकर के ऐसे वीरो
के पराक्रम की क़ुरबानी लिखेंगे।
हम हिन्द के निवासी हिंदुस्तानी लिखेंगे
मदर टेरेसा के शांति सन्देश की
मेहेरबानी लिखेंगे।
हम हिन्द के निवासी
हिंदुस्तानी लिखेंगे।
ऋतू राय

परिचय - ऋतू राय

जन्म 1983 विल-भदाव, पोस्ट -मालतारी डिस्ट-आजमगढ़ मो- 8429551052