गीत/नवगीत

आओ प्रीत बदल लें हम।

इक बात आयी है दिल में आज, आओ प्रीत बदल लें हम।
मै धड़कूँ तेरे सीने में, जीवन संगीत बदल लें हम।।

कुछ दिन मै भी चैन से सोलूँ, और तुम जग लो रातों को।
सुबह शाम हर वक्त हर घड़ी, सोचे मेरी बातों को।।
हरपल जिसको गाता रहता, वो हर गीत बदल लें हम।
मै धड़कूँ तेरे सीने में, जीवन संगीत बदल लें हम।।

मै जिसकी रचना हो जाऊँ, तुम वो रचनाकार बनो।
गीत, गज़ल और छन्द विधा का, ऐसा एक आधार बनों।।
जिसको कोई जीत सके ना, वो भी जीत बदल लें हम।
मै धड़कूँ तेरे सीने में, जीवन संगीत बदल लें हम।।

मैं तेरी मीरा बन जाऊँ, और तुम मेरे कान्हा हो।
मै डूबूँ तेरी भक्ति में, तुम ही मेरा ठिकाना हो।।
सदियों से जो चली आ रही, वो हर रीत बदल ले हम।
मै धड़कूँ तेरे सीने में, जीवन संगीत बदल लें हम।।

एक बात आयी है दिल में आज, आओ प्रीत बदल लें हम।
मै धड़कूँ तेरे सीने में, जीवन संगीत बदल लें हम।।

परिचय - सौरभ दीक्षित मानस

नामः- सौरभ दीक्षित पिडिट्स पताः- भवन संख्या 106, जे ब्लाक, गुजैनी कानपुर नगर पिन 208022, उत्तरप्रदेश मो 8004987487, 9760253965

Leave a Reply