शिशुगीत

टाईगर

विश्व बाघ दिवस (29 जुलाई) के अवसर पर विशेष

 

टाई नहीं लगाता फिर भी,
गुरु और शेर | saibalsanskaarhindiटाईगर है मेरा नाम,
शेर है भाई, वन में रहता,
बस शिकार का करता काम.
मेरी प्यारी-प्यारी धारियां,
बन जाती हैं मेरी दुश्मन,
इसीलिए छिपता-फिरता हूं,
वरना रहता मैं स्वतंत्र मन.

परिचय - लीला तिवानी

लेखक/रचनाकार: लीला तिवानी। शिक्षा हिंदी में एम.ए., एम.एड.। कई वर्षों से हिंदी अध्यापन के पश्चात रिटायर्ड। दिल्ली राज्य स्तर पर तथा राष्ट्रीय स्तर पर दो शोधपत्र पुरस्कृत। हिंदी-सिंधी भाषा में पुस्तकें प्रकाशित। अनेक पत्र-पत्रिकाओं में नियमित रूप से रचनाएं प्रकाशित होती रहती हैं।

Leave a Reply