कविता

सच के करीब 6 कविताएँ

1.

अच्छी बात

सत्ता के 6 वर्ष !
अन्य देशों को
मदद की गई,
यह तो अच्छी बात है !
किन्तु मदद
अपनी औकात देखकर ही होनी चाहिए !
चादर देखकर ही होनी चाहिए !
न कि अपने देश के नागरिक
भूखा सोये
और इलाज के लिए तड़पे !
देश की स्थिति अब भी नाजुक है, सर !
लेकिन 17.7 का संबोधन अद्भुत था !

2.

सुश्री कवयित्री 

कवि की पुत्री कवयित्री !
भतीजी अक्षरा को
अनगिनत शुभमंगलकामनाएँ,
पर सपनों में
विज्ञान अन्वेषण करना,
चिकित्सा अन्वेषण आदि की बातें भी आए,
यही पाथेय है, सुश्री अक्षरा !
पिताजी के रचनाकर्म नहीं अपनाना, बेटी !

3.

डोंट टच

अभी
नो स्किन टच,
बट
ओनली स्क्रीन टच !
रहिये दूरी,
जो है–
बेहद जरूरी !
नो किस,
ओनली मास्क !

4.

नो हॉर्न

अभी
नो शोर,
नो हॉर्न !
प्लीज, दम्पति जी !
अपनी संपत्ति का इस्तेमाल
फिर कभी करना,
अभी जीना है,
घाट-घाट पीना है !
जवानी और जान बची,
तो फिर इना, डिका, मीना है,
वरना बोरिया-बिस्तर सीना है !

5.

सानंदता 

कोरोना काल में
घर हो या बाहर
‘समारोह’ मनाना उचित नहीं !
किन्तु भतीजे अंशु को
स्वस्थजीवन और भविष्य में
स्वर्णिम करियर के लिए
हृदय से शुभमंगलकामनाएँ !
सपरिवार आप स्वस्थ, सुरक्षित
और सानंद रहिये,
किन्तु ध्यान रखिये !

6.

अभी क्या सभी

इना, मीना, डिका….
अभी सबकोई फ़ीका !
अभी जान बचाओ अपना,
अगर परिवार से प्रेम है,
तो दूरी अपनाओ, भैया !
नहीं तो कोई भी
नहीं पार लगाएगी नैया !
इना, मीना, डिका….
अभी सबकोई फ़ीका !

परिचय - डॉ. सदानंद पॉल

तीन विषयों में एम.ए., नेट उत्तीर्ण, जे.आर.एफ. (MoC), मानद डॉक्टरेट. 'वर्ल्ड रिकॉर्ड्स' लिए गिनीज़ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स होल्डर, लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड्स होल्डर, इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड्स, RHR-UK, तेलुगु बुक ऑफ रिकॉर्ड्स, बिहार बुक ऑफ रिकॉर्ड्स होल्डर सहित सर्वाधिक 300+ रिकॉर्ड्स हेतु नाम दर्ज. राष्ट्रपति के प्रसंगश: 'नेशनल अवार्ड' प्राप्तकर्त्ता. पुस्तक- गणित डायरी, पूर्वांचल की लोकगाथा गोपीचंद, लव इन डार्विन सहित 10,000+ रचनाएँ और पत्र प्रकाशित. भारत के सबसे युवा संपादक. 500+ सरकारी स्तर की परीक्षाओं में क्वालीफाई. पद्म अवार्ड के लिए सर्वाधिक बार नामांकित. कई जनजागरूकता मुहिम में भागीदारी.

Leave a Reply