विविध

मोगेम्बो और क्रूर सँपेरे

खल अभिनेता “अमरीश पुरी” की पुण्यतिथि पर सादर नमन…. 42 वर्ष की उम्र में फ़िल्मी दुनिया में आये, जबकि उनके बड़े भाई मदन पुरी ‘वॉलीवुड’ के स्थापित अभिनेता थे। ‘मिस्टर इंडिया’ के मोगेम्बो और ‘नगीना’ के क्रूर सँपेरे की भूमिका के रूप में वे तो छा गए।

‘दिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे’ में क्रूर पिता के बाद जब वे अंततः कहते हैं- ‘जा सिमरन जा अपनी जिंदगी जी ले’, तब उनकी वास्तविक अभिनेता के वजूद का पता चलता है। ‘गंगा यमुना सरस्वती’ में भी उनकी खल भूमिका थी।

उसने ऑस्कर विजित फ़िल्म ‘गाँधी’ में भी अहम किरदार निभाए । फिल्मी दुनिया में वे 20 साल भी व्यतीत नहीं कर पाए ! उनकी पुण्यतिथि पर उन्हें पुनश्च सादर श्रद्धांजलि…..

परिचय - डॉ. सदानंद पॉल

तीन विषयों में एम.ए., नेट उत्तीर्ण, जे.आर.एफ. (MoC), मानद डॉक्टरेट. 'वर्ल्ड रिकॉर्ड्स' लिए गिनीज़ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स होल्डर, लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड्स होल्डर, इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड्स, RHR-UK, तेलुगु बुक ऑफ रिकॉर्ड्स, बिहार बुक ऑफ रिकॉर्ड्स होल्डर सहित सर्वाधिक 300+ रिकॉर्ड्स हेतु नाम दर्ज. राष्ट्रपति के प्रसंगश: 'नेशनल अवार्ड' प्राप्तकर्त्ता. पुस्तक- गणित डायरी, पूर्वांचल की लोकगाथा गोपीचंद, लव इन डार्विन सहित 10,000+ रचनाएँ और पत्र प्रकाशित. भारत के सबसे युवा संपादक. 500+ सरकारी स्तर की परीक्षाओं में क्वालीफाई. पद्म अवार्ड के लिए सर्वाधिक बार नामांकित. कई जनजागरूकता मुहिम में भागीदारी.

Leave a Reply