Author :

  • गज़ल

    गज़ल

    कुछ इस तरह तेरी चाहत ने बेकरार किया, आईना देखा भी तो तेरा ही दीदार किया, ============================ इस दीवानगी ने छीन लिए होश मेरे, मुहब्बत ने हमें रूसवा सरे-बाज़ार किया, करना था तो नज़र मिलने से...

  • कविता

    कविता

    छुपा हुआ है एक दुशासन, शायद मेरे मन में भी, सत्य तो और भी थे लेकिन, मैंने कड़वा ही सत्य कहा, साधा मौन प्रशंसा में और, परनिंदा में मुखर रहा, किसी को अपमानित करने का, जब-जब...

  • गज़ल

    गज़ल

    दीवानों की दुनिया की ये कैसी रवायत है, उनसे ही मुहब्बत है उनसे ही शिकायत है, दोनों सूरतों में चैन ना आए मेरे दिल को, वो आएं तो हंगामा ना आएं कयामत है, मुझे मालूम है...

  • गज़ल

    गज़ल

    भरोसा था तुझे पहले रहा वो अब नहीं शायद, तेरी उम्मीद पर मैं ही खरा उतरा नहीं शायद, तेरे एहसास की गर्मी में तो कोई कमी ना थी, पर मैं ही था पत्थरदिल तभी पिघला नहीं...

  • गज़ल

    गज़ल

    कब दीवारों से झाँकता है कोई, मुझको शायद मुगालता है कोई, मुड़ के देखा हवा का झोंका था, लगा ऐसे पुकारता है कोई, रूबरू होती है मुलाकातें, अब कहाँ चिट्ठी बांचता है कोई, इस तरह आजकल...

  • गज़ल

    गज़ल

    कभी फुर्सत हो तो सुनना छोटी सी कहानी है, अश्कों से लिखी है और निगाहों से सुनानी है गम क्या है हमें मालूम ही ना था कभी पहले, ये आँसू और ये आहें मुहब्बत की निशानी...

  • गज़ल

    गज़ल

    खुद से वो शर्मिंदा निकला, चलो कोई तो जिंदा निकला, ================== अजनबी जैसा लगता था पर, बस्ती का बाशिंदा निकला, ================== मेरे बाद मेरे कमरे से, खतों का एक पुलिंदा निकला, ================== चोर जिसे समझे थे...

  • गज़ल

    गज़ल

    बहुत से लोग दुनिया में अजब सा काम करते हैं, मुहब्बत ज़िंदगी से है मगर जीने से डरते हैं, ============================== रवायत इश्क की ना जाने कैसी है कि दीवाने, उसी को देख कर जीते हैं जिस...

  • नियम

    नियम

    जीवन नियमों से चलता है। ये पूरी सृष्टि नियमबद्ध है। कुछ भी नियम के प्रतिकूल नहीं होता। मानव को ये सुविधा उपलब्ध है कि वो चाहे तो अपने जीवन के नियम स्वयं बना सकता है। जो...

  • ग़ज़ल

    ग़ज़ल

    जो मेरे सीने में धड़कन की तरह बसता रहा, मैं उसे ही मिलने को ता-उम्र तरसता रहा, धूप में जलती रहीं फसलें कहीं पर खेत में, और कोई घर कहीं पर बाढ़ में बहता रहा, ढूँढता...