Author :

  • वर्षा रानी

    वर्षा रानी

    वर्षा रानी तुझे बुलावा संसार मे आया है धरती सूखी, नदियाँ सूखी, नहरें सूखी आकाल है! जीवों का संसार है ईश्वर जीवन दाता आप है भरण करना पोषण करना आपका उपकार है! खेतों मे दरारें पड़...

  • पर्यावरण

    पर्यावरण

    आओ बच्चे पेड़ लगाएँ मिलजुल कर के साथ मे, स्वच्छ -भारत, सुंदर भारत रहे स्वच्छ परिवार मे! वायु प्रदुषण बढ़ता है, पेड़ों के आभाव मे, शुद्ध – शुद्ध हवाएँ आती, पेड़ों के बागान से, जल -प्रदुषण...

  • मौसम

    मौसम

    कितना सुहाना मौसम है हरा – भरा हरियाली है! रिमझिम बारिस की बूंदे झम-झम अवनि पर बरसे! छिपी धरती के सब बीज नव अंकुर हो जाते हैं! खेतों मे भी बनी क्यारियाँ धान – फसल भी...

  • हाईकू

    हाईकू

    हाईकू प्रीत मिलन मधुरमय बेला करे पुकार! नई उमंग मन मे है तरंग हुई मगन ! सुनी डगर निहारते सनम मिले कदम! लोग बेगाने बने इस तरह मिले सबक! अजनबी ये मन करता दुआ शुक्रिया तेरा?...

  • तितली रानी

    तितली रानी

    तितली रानी – तितली रानी रंग बिरंगें पंखों वाली घास – फुस पर विचरण करती सब रंगों मे सुंदर लगती कभी लताएँ , कभी फूलों पर इधर- उधर वो खूब इतराती तुझे देख सब बच्चें खुश...

  • प्रेम

    प्रेम

    ये कैसी प्रेम कहानी है एक प्रेम के बस में तो दुसरा प्पेम से दूर क्या यही सच्चा प्यार है? एक नजरें मिलाने पे विवस तो दुसरा नजरे चुराने मे विवस क्या यही सच्चा प्यार है?...

  • प्रियतम

    प्रियतम

    प्रियतम आप क्यों गये मुझे छोड़कर मुझसे दूर आखिर मैने क्या किया आपने क्या वादा किया था मुझसे मेरा दिल क्यों दुखाया आपने मेरी भावनाओं को क्यों नहीं समझा मैने क्या भुल की जो आप दूर...


  • कागज दिल

    कागज दिल

    कहा हो प्रीतम ! ये आंखें ढूंढ रही है आ जाओ तुम अब क्यों रूठे हो तुम आकर तुम बोलों राज रूठने का खोलों आओ न प्रीतम तेरे यादों को मैं बयां किस कदर करूँ ये...

  • नारी

    नारी

    नारी एक चट्टान है जो तुफान आने पर अपने जगह पर अडिग रहती है! नारी एक संकल्प है जो अपना काम सही समय पर पूरा कर लेती ह! नारी एक भावना है जो हर दिल की...