Author :

  • हाईकू

    हाईकू

    प्रीत मिलन मधुरमय बेला करे पुकार! नई उमंग मन मे है तरंग हुई मगन ! सुनी डगर निहारते सनम मिले कदम! लोग बेगाने बने इस तरह मिले सबक! अजनबी ये मन करता दुआ शुक्रिया तेरा? बिजया...



  • मां

    मां

    तेरे तन्हाईयों का दर्द मां मैं कैसे सहू तेरे बिन तेरे रुसवाइयों का डर मां किसी गम से कम नही। चाहें तू लाखं जरुरते पूरी कर दे मां पर सब बिखर जाते है सिर्फ तेरे बिन...

  • प्रियतम तेरी याद आई

    प्रियतम तेरी याद आई

    सपनों की दुनिया में सपनों की तलाश में भींगी भींगी रातों में भींगी भींगी बाहों मैं प्रियतम तेरी याद आई। चांदनी रातों में तारों के बारातों में जुगनू के प्रकाशों में झूमती पुष्प लाताओं में प्रियतम...

  • होली

    होली

    होली फागुन चैत बयारआया रंगो का त्योहार लाया। मौज मस्ती साथ लायी देखो बच्चें होली आयी! रंग – बिरंग पिचकारी आया बच्चों को खूब मन भाया! रंगो का त्योहार है होली देखो बच्चे होली आयी! अबीर...

  • तितली बनू

    तितली बनू

    तेरी राहों मे तितली मैं बनकर चली तेरी बाहों मे आहें मैं भरकर सोई तुझे अपने दिल की आरमा बताने चली तुझे यादों की कीमत चुकाने चली तेरी राहों मे तितली मैं बनकर चली हर सुबह...

  • कविता

    कविता

    ये दुनिया की कैसी रीत है जहाँ लोग लड़ते रहते है किसका क्या है कितना है इन सब बातों पर मनमुटाव करते रहते है ये भाई – भाई भी आपस मे जयदाद के लिए लड़ते है! मेरा तो मानना है कि...

  • कविता

    कविता

    बर्षा की फुहारो से पानी की झनकारो से हवा -भरी तुफानों से गरज-गरज कर घुमड़ रहे है रिमझिम – रिमझिम बरसे सावन! धुल भरी पतवारो से सुगंधित पुष्प लताओ से लता ओट मे छिपकर के झम-झम...

  • माँ

    माँ

    *माँ* तेरी मुस्कान मिझे याद है तु कितनी भोली हो तु करूणा की मूर्ति हो! माँ तुम दुख मे धीरज रखने वाली हो तेरी हर सांस में प्यार है! माँ तु अनमोल हो तु सागर हो...