Author :

  • दुर्गा दुर्गति नाशिनी

    दुर्गा दुर्गति नाशिनी

    नमो दु्गा दुर्गति नाशिनी  अर्थात जो दुर्गति का नाश करती हैं वही आद्याशक्ति माँ दुर्गा हैं |’ जागो दुर्गा , जागो दशोप्रहर धारिणी माँ …, जागो… तुमि जागो…, जागो चिन्मयी जागो मृन्मयी , तुमि जागो माँ…...

  • शिवमय है सावन 

    शिवमय है सावन 

    कहते हैं सृष्टि के कण – कण में ईश्वर का वास होता है और ये हमारी आस्था ही  है जिसके कारण हम उनके दिव्य स्वारूप का दर्शन कर पाते हैं | श्रावण मास आशुतोष भगवान शंकर...



  • माँ का स्पर्श 

    माँ का स्पर्श 

    कहते हैं हर माँ अपने बच्चे की सबसे बड़ी हकीम होती है | जब एक बच्चा जहां भर की परेशानियों से जूझकर घर आकर अपनी माँ की गोद में अपना सिर रखता है और माँ जब...




  • लघुकथा – अनमोल सीख

    लघुकथा – अनमोल सीख

    अपने दसवर्षीय शरारती नटखट बेटे किशन को ढूढ़ती हुई माँ वृंदा काफी परेशान हो रही थी। बेटे किशन का मन पढ़ाई में बिल्कुल नहीं लगता था। उसने अपने बेटे पढ़ाने के लिए घर पर मास्टर भी रखी हुई थी। मास्टर...

  • सपनों का संसार

    सपनों का संसार

    तिनका-तिनका जोड़कर घोंसला बनाया सपनों का अंडों से जब बाहर निकले हर चूज़े का पेट भरा प्यार से फिर चिड़िया मां ने चोंच से दाना चुग-चुगकर पंख खिले जब पूरे उनके उड़ने का साहस भरा मानव...