Category : राजनीति






  • मानव-अस्तित्व खतरे में !

    मानव-अस्तित्व खतरे में !

    मानवविज्ञानी एवं वैज्ञानिकों का मत है – पृथ्वी की उत्पत्ति के लाखों वर्ष बाद पृथ्वी में जीव की उत्पत्ति हुई |महुष्य की उत्पत्ति बहुत बाद करीब चालीश लाख साल बाद हुई वो भी होमो (Homo) के...


  • कहाँ गया गरीबों का पैसा

    कहाँ गया गरीबों का पैसा

    देश में एक तरफ जहां अरबपतियों, पूंजीपतियों की संख्या बढ़ रही है, वहीं अब तक बारह पंचवर्षीय योजनाओं में लाखों करोड़ रूपये खर्च करने के बावजूद ग्रामीण बेहद गरीबी में जीने को मजबूर हैं। देश के...

  • आईना बोलता है

    आईना बोलता है

    व्यापम शरणं गच्छामि यह तो मालूम नहीं कि व्यापम की व्यापकता पर हल्ला हो रहा है या उसकी मारक क्षमता पर, पर इतना तो साफ है कि कई दिनों से शांत पड़े विपक्ष के खेमे को...