यात्रा वृत्तान्त

अदब की दुनिया के जगमगाते सितारों से मिलना जैसे ज़ियारत हो गई

अदब की दुनिया के जगमगाते सितारों से मिलना जैसे ज़ियारत हो गई     पहले दिन तय हुआ था कि सुबह ठीक साढ़े सात बजे घर से निकल पड़ेंगे | ताकि अंधेरा होने से पहले शिमला पहुँच जायें | अत: दूसरे दिन यानि २२ मई को मैं सुबह रोज कि तरह जल्दी उठ गया | […]

यात्रा वृत्तान्त

खदराला का भ्रमण

खदराला जाने का अवसर मुझे 1978 में मिला। शिमला से वाहन द्वारा टैक्सी या बस द्वारा ही वहां पहुंचा जाना संभव था। शिमला से बस द्वारा नारकंडा होते हुये सुंगरी- खदराला-रोहरू मार्ग पर जाना पड़ता है। नारकंडा तक तो सड़क पक्की थी और आगे कच्ची थी, परन्तु अब पक्की है। लगभग 110 किलो मीटर की […]

यात्रा वृत्तान्त

हर ट्रेन की यही कहानी , टूटे फ्लश – बेसिन में  पानी !! 

हम भारतीयों की किस्मत में ही शायद सही – सलामत यात्रा का योग ही नहीं लिखा है । किसी सफर में सब कुछ सामान्य नजर आए तो हैरानी होती है । कोरोना काल में उत्तर प्रदेश की मेरी वापसी यात्रा का अनुभव कुछ ऐसा ही रहा । कई मामलों में  नए अनुभव के बावजूद चिर […]

यात्रा वृत्तान्त

कोरोना काल , रेल यात्रा बेहाल …!!

वाकई भौकाल मचाने में हम भारतीयों का कोई मुकाबला नहीं । बदलते दौर में दुनिया दो भागों में बंटी नजर आ रही है । एक स्क्रीन की दुनिया और दूसरी असल दुनिया । इस बात का अहसास मुझे कोरोना की नई लहर के बीच की गई रेल यात्रा के दौरान हुआ । भांजी की शादी […]

यात्रा वृत्तान्त

नवाबगंज ठाकुरबाड़ी से गोगाबिल पक्षीविहार

नवाबगंज ठाकुरबाड़ी : भव्य स्थापत्यकला कटिहार के मनिहारी अंतर्गत नवाबगंज ग्राम को यूँ तो बंगाल के नवाब सिराज़ुद्दौला के मौसेरे भाई और खुद पूर्णिया स्टेट के नवाब शौकतजंग ने बसाया था, किन्तु उनके साक्ष्य प्रतीक उनके किला की ईंटों से बना हाईस्कूल भी ऐतिहासिक तो हुआ, तथापि आज़ादी के पूर्व ही नींव लिए और इन […]

यात्रा वृत्तान्त

रेल यात्रा या जेल यात्रा

ट्वीटर से समस्या समाधान के शुरूआती दौर में मुझे यह जानकार अचंभा होता था कि महज किसी यात्री के ट्वीट कर देने भर से रेल मंत्री ने किसी के लिए दवा तो किसी के लिए दूध का प्रबंध कर दिया। किसी दुल्हे के लिए ट्रेन की गति बढ़ा दी ताकि बारात समय से कन्यापक्ष के […]

यात्रा वृत्तान्त

जर्मनी (यूरोप) की नदियाँ इतनी साफसुथरी क्यों ? एक निष्पक्ष समीक्षा (यात्रा संस्मरण)

जर्मनी की नदियों को वहाँँ के लोग बहुत ही हिफाज़त से रखे हैं, वहाँ की नदियाँ इतनी साफ-सुथरी हैं, कि आप उनके पानी को प्यास लगने पर निर्भय होकर पी सकते हैं। वहाँ हम लोग जर्मनी के सेक्सनी राज्य में बहने वाली एल्ब नदी के किनारे गये थे, जर्मनी के इस प्रसिद्ध शहर ड्रेसडेन के […]

यात्रा वृत्तान्त

कश्मीर यात्रा : एक अनुभव

जुलाई के दूसरे सप्ताह में हमने अपने कुछ रिश्तेदारों के साथ कश्मीर का भ्रमण किया। कश्मीर में आतंकवादी घटनायें लगभग समाप्त हो जाने के कारण हमने यह हिम्मत की और ईश्वर की कृपा से यात्रा निर्विघ्न सफल रही। कश्मीर में सुरक्षा व्यवस्था कड़ी होगी, इसका अनुमान हमें था, लेकिन इतनी कड़ी होगी इसकी कल्पना नहीं […]

धर्म-संस्कृति-अध्यात्म पर्यावरण यात्रा वृत्तान्त लेख सामाजिक

मेघालय की राजधानी शिलॉंग – पर्यटन के लिए बेहतर

मेघालय यानी ‘मेघों का आलय’ ‘मेघों का घर’. जंगल और पहाड़ों के बीच बसा मेघालय बड़ा ही रमणीक है. गर्मी की छुट्टियों में सपरिवार वहां जाना और विभिन्न प्राकृतिक दृश्यों का अवलोकन करना स्वयं को आनंदित कर देता है. यहाँ के झरने, गुफाएं, घाटियाँ, पहाड़ों पर बने साफ़ सुथरे मकान, पर्वतों की ऊँचाइयाँ, मन को […]

धर्म-संस्कृति-अध्यात्म यात्रा वृत्तान्त लेख

बुद्ध स्मृति पार्क, पटना

बिहार की राजधानी पटना बहुत सारे मामलों में कुछ खास है. यहाँ रेलवे स्टेशन पर जैसे ही उतरेंगे आपको बहुत ही खूबसूरत और ऊंचा श्री महावीर हनुमान मंदिर मिलेगा. वहां आपको लिखा हुआ दिख जाएगा- प्रबिसि नगर कीजे सब काजा। हृदयँ राखि कोसलपुर राजा॥. इस प्राचीन हनुमान मंदिर का जीर्णोद्धार और पुनर्निर्माण उस १९८०-८५ में […]