Author :



  • माँ

    माँ

    तु हैं तो मैं हूँ , तु दुनिया मेरी , तेरे कदमों मे हैं मेरा ज़हां , कभी ज़िन्दगी मेरी ,खुली किताब थी , शब्द अनकहे मेरे ,समझती थी तु , मेरी इच्छा को तेरी इच्छा...

  • मेरा कान्हा

    मेरा कान्हा

    सुनो तो कान्हा ओ मेरे कान्हा, देख तेरी दासी पुकारे , तेरा नाम ।।।। कदम्ब के नीचे ,करे तेरा इंतजार , आजा ,आजा ,अब तो आजा , एक बार आजा आके मुझे सुना जा , धुन...


  • अनोखा सावन

    अनोखा सावन

    ” दो तीन दिन से आप बहुत खुश लग रहे हो , कुछ खास बात है क्या”?? ” नहीं, नहीं तो मैं तो हमेशा जैसा रहता हूँ वैसा ही हूँ”। ” अच्छा सुनो ,देखो मैं कितना...