सामाजिक

कोरोना से क्यों डरना

नमस्कार दोस्तों, उम्मीद करती हूँ कि आप सभी अपने अपने घरों में स्वास्थ्य होंगे , होंगे भी क्यों नहीं हम सब सावधानी रख रहे है और सरकार के आदेशों का पालन कर रहे हैं । हम सभी अपने अपने कर्तव्यों को पूरा करेंगे तो जल्द ही कोरोना खत्म हो जाएगा । जब lockdown शुरू हुआ […]

हास्य व्यंग्य

पापा जी

पापा जी वो बहुत खुश है अपने छोटे से परिवार में ,उसके परिवार में अच्छा पति जो एक अच्छा बेटा है अपने माता पिता का, एक अच्छा भाई जो हमेशा बहन की एक आवाज़ पर तैयार है , एक अच्छा पिता जो अपने बच्चों को हर वो खुशी देना चाहता है और देते भी है […]

कविता

लॉक डाउन

  लॉक डाउन जब से सुना हमनें कि होगा लॉक डाउन, मन में लड्डू कई फूटने लगे एक साथ, सोचा चलो कुछ दिन साथ रहेंगे हम , भागमभाग में कब होता दिन , कब होती रात , न वो जानते न मुझे होता मालुम, काम के पीछे भागते ही रहते हमेशा। पर सोचा न था […]

कविता

कोरोना

आज शाम का नज़ारा, बहुत अद्भुत था , हर एक के मन को, रोमांचित कर रहा था।। हर कोई एक जुट हो कर , तैयार था लड़ने को , “कोरोना ” वाली बीमारी से, कोरोना तुम ही नहीं , सभी देश के दुश्मन को , सबक है आज मिला , जरूरत हुई तो देशवासी, हर […]

कविता

इंतज़ार के पल

कितने प्यारे होते है पल इंतज़ार के, कभी बेइंतहा खुशी देते है , कभी इंतज़ार की झुंझलाहट ।। पर बहुत खूबसूरत अहसास है इंतज़ार का ।। जब भी किसी खास का करते है , इंतज़ार शिद्दत से हम…. तब , जाने कितने सपनें आ जाते है , दुनिया रंगीन हो जाती है एक पल में […]

कविता

तेरे दर पर

गोविन्द के दरबार में मैं तो क्या हर कोई खोता सुध बुध है अपनी , आज उपजी कुछ भावना एक तेरा नाम ही, बस गया हैं रगों में, जल्द मिलना चाहूँ , तेरे से मैं ….. आना चाहूँ तेरे धाम, बेचैन हो रही हूँ मैं, प्राण निकले तन से , तुम रहना सामने मेरे, तुम […]

कविता

तमन्ना

नज़र लग गई , साथ को हमारे, उड़ गई खुशी , दामन से हमारे ।। किस देश गई, खोल पंख उसके, छोड़ वो गई, यादें सुनहरी उसकी ।। अब जब याद , करती हूं तुमको , संग उसके दिखते , कैसे बुलाऊँ तुमको ।। इतना सा ही था , साथ हमारा शायद, तभी तो आज, […]

कविता

मेरा गांव

रजनी दीदी आपके स्टेटस में आपका वीडियो देखा गांव के आपके घर का जो जीर्ण हो रहा है हालांकि वहां रहते भी है आपके मायके पक्ष के लेकिन उस वीडियो ने सोचने पर मजबूर कर दिया । मेरा गांव कितने दशक गुज़र गए है, मुझे तो गिनती नही उनकी, लेकिन कोई गिन रहा है, उसके […]

कविता

जो तुम नहीं

जो तुम नहीं जो तुम नही आज साथ मेरे, गलती तुम्हारी नही इसमें, मोहब्बत मैंने की थी तुमसे, तुमको मोहब्बत आती न थी ।। देखो यह सफर लम्बा , तय कर रही हूँ अकेली, क्योंकि तुम नहीं साथ, मैं और मेरी मोहब्बत तन्हा ।। अब हर सफर , मंजिल पर, जाना होगा मुझे ही अकेले, […]

कविता

मेरा परिचय

मेरा परिचय मैं बेटी हूँ मेवाड़ की , उदयपुर की, मुझे गर्व है , वीर भूमी पर जन्मी, यहाँ का कण कण गाता गाथा , उन वीरों की जो हुए शहीद , इस मातृभूमि की रक्षा को , इस के इतिहास ने वो वो , ऐतिहासिक घटनाएं देखी , जो आज भी हर हिंदुस्तानी के […]