ब्लॉग/परिचर्चा सामाजिक

अमीरी सबके लिए

( पहले देखिए  1-शाँति, सबके लिए   और 2- सेहत, सबके लिए) शान्ति का समृद्धि से, अमीरी से सीधा सम्बंध है। आपने देखा होगा कि जिस परिवार में लड़ाई-झगड़े रहते हैं। वे नौकरी, बिज़नेस या खेती, कुछ भी ठीक ढंग से नहीं कर पाते। पति घर से लड़ाई करके निकलेगा तो वह किसी न किसी छोटे-बड़े हादसे […]

सामाजिक

हारने को हार नहीं कहते बल्कि हिम्मत हारने को हार कहते हैं।

मेहनत और भाग्य को लोग अलग-अलग करके देखते हैं। यह सामान्य जुमला है कि भाग्य में होगा तब सबकुछ मिलेगा। भाग्य प्रबल होगा तब घर बैठे सबकुछ मिल जाएगा। पर यथार्थ के धरातल पर भाग्य पक्ष को तौल कर देखा जाए तब आपको सबकुछ मिलने की गारंटी बिलकुल भी नहीं मिलेगी और मिलना भी नहीं […]

सामाजिक

स्मृति ईरानी और लार्ड मेकाले की शिक्षा

समरस समाज, प्रेरणादायक नेतृत्व और नागरिकों के उच्च चरित्र ही देश और समाज के सर्वंगीण विकास में सहायक होते हैं। फिजिक्स, केमिस्ट्री, मैथेमेटिक्स, इतिहास, भूगोल और अर्थशास्त्र की किस पुस्तक में लिखा है कि बड़ों का सम्मान करो, स्त्रियों को मां-बहन का सम्मान दो, माता-पिता-गुरु को पैर छूकर प्रणाम करो। राम, कृष्ण, गौतम, गांधी के […]

ब्लॉग/परिचर्चा सामाजिक

कब तक लटकती रहेंगी दलित बच्चियां यूँ ही पेड़ों पर?

अभी हरियाणा के भागणा में हुए दलित लड़कियों से सामूहिक बलात्कार की घटना के दोषियों को सजा मिली भी नहीं कि आज उत्तर प्रदेश में एक और दिल दहला देने वाली घटना हुई। दो नाबालिग दलित चचेरी बहनों का सवर्णों द्वारा सामूहिक बलात्कार कर के हत्या कर दी जाती है। हत्या भी ऐसी की अपनी […]

ब्लॉग/परिचर्चा सामाजिक

शाँति, सबके लिए

आज इन्सान अपने सबसे कठिन दौर से गुज़र रहा है। विज्ञान की उन्नति ने जहां उसके पास सुविधा के साधनों का ढेर लगा दिया है वहीं उसके सामने एक मुश्किल भूल भुलैया भी बना दी है। आज इन्सान के सामने उसकी मंज़िल की साफ़ तस्वीर नहीं है। जिसके सहारे वह आगे बढ़ सके। ऐसे में […]