कविता

आजादी का झंडा

आजादी के झंडे को हम , आत्मविश्वास से फहराएंगे , जीवन की उपलब्धियों को हम , देश के नाम कराएंगे , संविधान के अनुच्छेदों को , शब्द-शब्द हम देश के काम आएंगे , आजादी के लहू को हम , जीवन भर याद रखेंगे , 26 जनवरी को शपथ ग्रहण कर , सविधान की लाज बचायेंगे […]

कविता

नया साल नया दौर

जीवन के रंग मे खुशियों के संग में , सुबह की लाली घटा शाम की तन्हाई में , हरे भरे पेड़ों पर चिड़िया चहकती रहे , खेत खलिहानों मे फसल लहलहाती रहे , नई रोशनी मे नये जीवन की शुरुआत हो , सबको जीने की नई दिशा, नया राह मिले , गाँव मे खुशियों की […]

समाचार

विश्व रिकॉर्ड में शामिल हुए सीवान बिहार के युवा साहित्यकार रूपेश

बुलंदी साहित्यिक सेवा समिति अंतरराष्ट्रीय द्वारा आयोजित विश्व के सबसे बड़े वर्च्युअल कवि सम्मेलन में सहभागिता कर विश्व रिकॉर्ड में चैनपुर, सीवान जिले के युवा साहित्यकार रूपेश कुमार ने शहर का गौरव बढ़ाया | यह कवि सम्मेलन 21 अगस्त 2022 से 6 सितंबर 2022 तक अनवरत 400 घण्टे चला था l  जिसमें विश्व के 35 […]

कविता

वक्त

आज आपके पास वक्त नही हैं , मुझसे बात करने के लिए , आज आपके पास समय नही हैँ , मुझसे बात करने के लिए , एक दिन ऐसा आयेगा , जब तुमको सारी दुनिया छोङ देगी , तुम्हारे पास , उस समय वक्त भी होगा , तुम्हारे पास समय भी होगा , मुझसे मिलने […]

कविता

हिंदी मेरी भाषा

हिंदी मेरी मातृभाषा , हिंदी मेरी जान ! हिंदी के हम कर्मयोगी , हिंदी मेरी पहचान , हिंदी मेरी जन्मभूमि , हिंदी हमारी मान , हम हिंदी की सेवा करते है , हम जान उसी पे लुटाते है , हिंदी हमारी मातृभाषा , हिंदी हमारी जान ! है वतन हम हिंदुस्तान के , भारत मेरी […]

कविता

गुरु ज्ञान का सागर

जीवन की सबसे पहले गुरु , माता पिता होते हैं , जीवन में गुरु का नाम , सबसे ऊँचा होता है , गुरु जीवन में मेरे , साइकिल के पहिए जैसा होते हैं , गुरु ज्ञान का सागर , गुरु महासागर होते हैं ! गुरु बिन ज्ञान हमें नहीं , कभी नहीं है मिलता , […]

कविता

आजादी का झंडा

आजादी के झंडे को हम , आत्मविश्वास से फहराएंगे , जीवन की उपलब्धियों को हम , देश के नाम कराएंगे , संविधान के अनुच्छेदों को , शब्द-शब्द हम देश के काम आएंगे , आजादी के लहू को हम , जीवन भर याद रखेंगे , 26 जनवरी को शपथ ग्रहण कर , सविधान की लाज बचायेंगे […]

कविता

आये वतन पे खतरा

आये वतन पे खतरा वो जान भी लगा दो , ये मुल्क के जवानो जंग का ज़ूनून भर लो , इसी जंग के कोने मे कही जन्नत नजर आयेगी , जंग आ ही जाये सर पे तो जुल्म भी तू कर ले , आजाद मुल्क है तो आजाद हम रहेंगे , कुर्बानियों के खातिर , […]

कविता

सिर्फ लाल

मेरी माँ ने एक बार कहा था , बेटे जहा गणतंत्र का झंडा , फहराया जाये , 26 जनवरी को , वहा ! उस जश्न में मत जाना , उस झंडे के नीचे मत जाना , ये सफेदपोश ,  उस झण्डे को दागदार कर दिये है , हर साल इसकी छाया में , इसके साथ […]

कविता

स्वतंत्रता की शान है तिरंगा

स्वतंत्रता की शान है तिरंगा , जीवन का अभिमान तिरंगा , विश्व पटल पर मान तिरंगा , भारत माँ की लाज तिरंगा , जीवन की अभिलाषाओं का , मन-मस्तिष्क का एहसास तिरंगा , बलिदानों की याद तिरंगा , शहीदों का सम्मान तिरंगा , जीवन में नये – नये रंग लाता , जोश-जुनून से जी भर […]