भजन/भावगीत

हे ईश्वर !

हे ईश्वर ! सुखदाता दयादृष्टि ऐसी रखना मेरे प्रभु…! जीवन जिऊं सादगी से कर्मपथ चलूं निडरता से मन में लिए सद्भावना हृदय में भरी हो शांति । व्यवहार हो मेरा मृदुल सभी प्राणियों से हो स्नेह सदा रहूं शुद्ध शाकाहारी ऐसी दयादृष्टि रखना त्रिपुरारी । हे ईश्वर ! सुखदाता मेरे भाग्य विधाता ।। — मुकेश […]

भजन/भावगीत

पद्मासना

आराधना करूँ, देवी पद्मासना । मैं उपासना करूँ, देवी पद्मासना । मेरे अधरों में , सुर बनके बैठो हे माँ, स्वर साधना करूँ, देवी पद्मासना । आराधना करूँ …… स्वर की देवी कहूँ, सुरपूजिता हो तुम। धवल वसन धारिणी, परमपुनिता हो तुम। तान वीणा की जैसे, सुरसरिता बहे , तेरी वंदना करूँ, देवी हंसासना । […]

भजन/भावगीत

गंगा-वंदना

गंगा मइया तुम हो पावन,तुम तो हो सबकी मनभावन। तुम हर लेतीं सबके दुख को,देतीं हो फिर सबको सुख को।। गंगा मइया पापहारिणी,सचमुच में हो दु:खहारिणी। मोक्ष प्रदायक,मंगलकारी,गंगा मइया तुम हितकारी।। शिवजी-केशों से उद्भूता,गंगा माँ से सब अभिभूता। नीर तुम्हारा पावन निर्मल,सदियों से जो करता कल-कल।। तप जब भागीरथ ने कीन्हा,गंगे ने उनको वर दीन्हा। […]

भजन/भावगीत

हे माँ भगवती तुम आ जाओ

हे माँ भगवती तुम आ जाओ करता हूँ मन से तुझे आह्वान आके तुम मंचासीन हो जाओ आशीष दे दो तुम हमे वरदान। वंदना है तुमको इस हृदय से स्वीकार करो माँ मेरी प्रार्थना बिघ्न-बाधा तुम दूर कर देना आज सफल  हो यह साधना। ज्ञान-दायिनी तुम ही हो माता अज्ञानता मेरी तुम दूर करना ज्ञान […]

भजन/भावगीत

जय- जय – जय बाबा केदार

दिव्य हिमालय में धाम तुम्हारा केदार बाबा सबके रक्षक हो, द्वादशज्योतिर्लिंग में श्री केदारनाथ जय- जय – जय हो बाबा केदार। देवों में तुम महादेव हो बाबा भक्तों के तुम कष्ट हरते हो , जो भक्त केदारेश्वर धाम पर आता उसकी मनोकामना पूरी करते हो। तन पर भस्म रमाये हो बाबा कर में त्रिशूल डमरू […]

भजन/भावगीत

संभाल लेना

मैं पंथ से विपंथ न हो जाऊं मुझे संभाल लेना मेरे ईश्वर। मैं भक्त से अभक्त न बन जाऊं मुझे संभाल लेना मेरे ईश्वर। मैं पुण्य से पाप की तरफ न बढ़ जाऊं मुझे संभाल लेना मेरे ईश्वर। मैं न्याय से अन्याय न करने लग पड़ूँ मुझे संभाल लेना मेरे ईश्वर। मैं जीत कर भी […]

भजन/भावगीत

द्रवित मन की पुकार

हे मेरे प्रभु ! दो मुझे ऐसी शक्ति सत्य की राह पर चल सकूंँ, दीन दु :खियों की सेवा कर सकूंँ, मृत आत्मा में भी ! जिजीविषा भर सकूंँ, हे  मेरे प्रभु ! दो मुझे ऐसी शक्ति। मानवता का मूल मंत्र जग में गूंँजे , हे मेरे प्रभु ! दो मुझे ऐसी शक्ति। करुणा की […]

भजन/भावगीत

जग तारण गणपति

पूजा पाठ कर शीश झुकाये, बेल पत्र संग गंग दुब चढ़ाये। सुमन सा मन में भाव भर के, फूलों की माला हम पहनाये।। मूषक राज के  करते  सवारी, एक दन्त देवा हो फ़रसा धारी। मार के  असुरन को विनायक, सब देवो के करते हो रखवारी।। गण के राजा तुम हो गणराज, विघ्न  विनाशक  हो महाराज। […]

भजन/भावगीत

हे गौरी के लाल

हे गौरी के लाल हरलो दुःख विशाल मैं हूं बड़ा उदास आके मेरे हृदय में करो वास हे विघ्न विनाशक दीन दुखियों के पालक रिद्धि सिद्धि के दाता लड्डुओं का भोग है भाता हे मेरे प्रभु गणेशा मेरे सिर पर हाथ रखो हमेशा मुझे हो न कभी अभिमान देना प्रभु मुझे ज्ञान हे गौरी के […]

भजन/भावगीत

गणेश वंदना

गौरी पुत्र गणेश, मैं तेरे, चरणों में पुष्प चढ़ाऊँ सब देवों के स्वामी तुम हो, तेरे ही गुण गाऊँ गौरी पुत्र गणेश, मैं तेरे, चरणों में पुष्प चढ़ाऊँ ऋद्धि-सिद्धि के तुम दाता, तुम ही अन्तर्यामी चाहूं हरदम तेरा साया, मैं मूरख खलकामी अद्भुत तेरा भेष, तुझे नित-नित शीश नवाऊंँ सब देवों के स्वामी तुम हो, […]