Category : संस्मरण

  • बुढ़ापा

    बुढ़ापा

    पिता जैसा बनना ….. हर लडकी का सपना ….. लक्ष्य निर्धारित किया अपना …. संयुक्त परिवार विलीन नहीं हो सकते हैं रफू का गुण सीखो रिश्ते रफ़ू से ही चलते हैं .. . बुढापे पर बात...



  • मेरी कहानी-13

    कौन सी घटना, किस कक्षा के समय में  हुई यह तो पूरा याद नहीं, लेकिन बहुत घटनाएं हुई जो हर एक के बचपन में होती हैं। एक नई बात यह हुई कि उन दिनों चर्मकारों के बच्चों को...

  • मेरी कहानी-12

    स्कूल हम रोज़ाना जाते थे और स्कूल खुलते ही स्कूल की एक खुली जगह पर एकत्र हो जाते। हर क्लास की अपनी अपनी लाइन होती। हर रोज़ दो हुशिआर लड़कों को सारे स्कूल के आगे खड़े...




  • मेरी कहानी – 10

    मेरी बहन मुझ से तीन वर्ष बड़ी थी और क्योंकि लड़किओं के लिए स्कूल होता नहीं था तो उसने  घर में  रहकर ही माँ से पंजाबी सीख ली और जल्दी ही सिख धर्म की किताबें पढ़ने लगी। क्योंकि...

  • आज

    आज

    आज 20/3/2015 सुबह सुबह की वार्तालाप ….. इसी माह माँ की पुण्यतिथि थी न …. किस दिन थी ….. हाँ थी तो …. किस डेट को ….. अच्छा ये बताइए …. आज क्या है ….. आज...