स्वास्थ्य

बीमार रहने का शौक

शीर्षक पढ़कर चौंकिये मत! बहुत से लोग होते हैं जिन्हें बीमार रहने और दवाइयां खाते रहने का शौक होता है। यह एक मानसिक बीमारी है। वे यह मानते हैं कि दवाइयां खाये बिना कोई जी ही नहीं सकता और स्वस्थ रह ही नहीं सकता। डाक्टर लोग भी अपने स्वार्थ के लिए उनके मन में यह […]

स्वास्थ्य

डायरिया से बचाव और उपचार

गर्मी के दिनों में पतले दस्त जिसे डायरिया कहा जाता है की शिकायत बहुत हो जाती है। इसके निम्न कारण हो सकते हैं- 1. बाजार के कटे-गले फल खाना या घर पर रखी खराब हो चुकी बासी चीजें खाना। 2. गर्म वस्तु के तुरंत बाद या उसके साथ ठंडी चीजें खाना। 3. अन्य कोई हानिकारक […]

स्वास्थ्य

हँसिये और हँसाइये

हँसने की क्रिया को आप मजाक में मत लीजिए। यह एक बहुत गम्भीर मामला है। हममें से बहुत से लोग इसलिए बीमार पड़ जाते हें कि वे कभी खुलकर हँसते ही नहीं। ठहाका लगाने की बात पर भी वे मुस्कराकर रह जाते हें। इस तरह की अनावश्यक गम्भीरता बनाये रखना मुसीबतों को न्यौता देना है। […]

स्वास्थ्य

हृदय की देखभाल

हार्ट स्पेशलिस्ट देवी शेट्टी से साक्षात्कार के अंश (चिकित्सा संसार ट्रस्ट द्वारा जनहित में जारी) एक चर्चा (डाॅ. देवी शेट्टी से जो कि नारायणा हृदयालया बैंगलोर में  हार्ट स्पेशलिस्ट हैं,) से विप्रो द्वारा की गई, जिसके प्रमुख अंश नीचे दिये जा है (हिंदी रूपांतरण) प्रश्न 1- एक आम आदमी के लिये अपने हृदय की सुरक्षा […]

स्वास्थ्य

हंसी, हर मर्ज़ की एक दवा है

 ( पहले देखिए  1-शाँति, सबके लिए   और 2- सेहत, सबके लिए  और 3- अमीरी सबके लिए और 4-अपने जीवन को बदलिए, सिर्फ़ एक दिन में) 1. आपका ऑक्सीजन लेवल बढ़ेगा। 2. आपका तनाव घटेगा। 3. आपको शान्ति मिलेगी। 4. आपका इम्यून सिस्टम मज़बूत होगा। 5. आपके रोग मिट जाएंगे। 6. आपके शोक मिट जाएंगे। 7. आपकी आमदनी और दौलत बढ़ेगी। […]

स्वास्थ्य

गुर्दे में पथरी का प्राकृतिक इलाज

बहुत से लोगों को गुर्दे में पथरी हो जाती है, जिससे बहुत असहनीय दर्द होता है. ऐलोपैथिक डाक्टरों के पास इसका कोई ठोस इलाज नहीं है, बस यों ही दवा खिलाते रहते हैं और अंत में आपरेशन कर देते हैं, जिसमें बहुत खर्च भी होता है और कष्ट भी. लेकिन चिंता की कोई बात नहीं […]

स्वास्थ्य

सेहत, सबके लिए

( पहले देखिए  शाँति, सबके लिए ) मज़दूरी, खेती, व्यापार और फ़ैक्ट्रियों में प्रोडक्शन, हम इनमें से कुछ भी नहीं कर सकते, अगर समाज में शाँति नहीं है। अगर लोग शाँति के साथ सड़कों पर आ-जा नहीं सकते, तो वे कोई रचनात्मक काम भी नहीं कर सकते। ऐसे में हमारे बच्चे स्कूल भी नहीं जा सकते […]