कहानी

कहानी : नियति

हरफनमौला निर्मिति हर महफ़िल की जान हुआ करती थीं । शादी-ब्याह हो या कोई पार्टी, रौनक तो निर्मिति के आने के बाद ही आती थी। गाना-बजाना हो, शॉपिंग हो, मेहमानों की खातिरदारी या लेनदेन का मामला, उनके पास हर चीज का अच्छा खासा अनुभव था । छोटे से लेकर बड़े, सभी उनका बहुत मान करते […]

कविता

जानेवाला साल

जानेवाले साल चला जा , आँसू मेरे लेता जा छिन लिया जो मेरी खुशियाँ अब तो वापस देता जा अब ना हों आँखों में आँसू गम की कोई बात न हो ऐ दिल अब तू कभी न रोना अब कोई आघात न हो जख्म दिए जो तूने दिल को मरहम भी तो देता जा जानेवाले […]

ब्लॉग/परिचर्चा

रविंदर भाई: शतकीय ब्लॉग की बधाई

रवि भाई, नमस्कार, आज आपका 100 वां ब्लॉग गुरु नानक जी का प्रकाश पर्व भाग- 26 प्रकाशित हुआ. सच पूछिए, तो 26 दिन का यह अनवरत सत्संग हमारे लिए बहुत महत्त्वपूर्ण, आनंददाई और रूहानी रहा. सत्संग की आपकी यह परंपरा नई नहीं है. सच पूछिए तो March 16, 2017 से हीआपके ब्लॉग हमें सत्संग से […]

कहानी

कहानी: आपरेशन

निर्मला ने अपनी पूरी जिंदगी दूसरों की सेवा में ही लगाई थी ! सबकी प्यारी और दुलारी निर्मला अम्मा की, घर में ही नहीं बाहर भी तूती बोलती थी । पर किसी ने सच ही कहा है कि समय एक सा नहीं रहता । बुढ़ापा अपने आप में एक बीमारी है । जो निर्मला अम्मा […]

कहानी

शुक्रिया

शुक्रिया एक सुनसान जगह काली रात में दोनो साथ है । दोनों के मुहँ विपरीत दिशा में जैसे दोनों ही एक दूसरे को पसंद नहीं करते फिर भी साथ है । कहे तो साथ रहना मजबूरी है । एक व्यक्ति तन्द्रा भंग कर बोलता है ” तुम्हारा शुक्रिया मेरे जीवन में आने के लिए ” […]

गीतिका/ग़ज़ल

ग़ज़ल

माना पहले से ताल्लुकात नहीं बुरे इतने भी पर हालात नहीं ख्वाब में अब भी रोज़ आते हैं जिनसे बरसों से मुलाकात नहीं हिज्र जैसी सज़ा नहीं कोई वस्ल जैसी कोई सौगात नही तुम्हें चाहा है, तुम्हें चाहूँगा तुम न चाहो तो कोई बात नहीं ज़िंदा रहती हैं ता-कयामत ये लोग मरते हैं, ख्वाहिशात नहीं […]

धर्म-संस्कृति-अध्यात्म

सदाबहार काव्यालय का सुहाना सफर

ब्लॉग ‘सदाबहार काव्यालय- 2: एक सुखद समारोह’ में आप सब लोगों ने प्रतिक्रियाएं लिखीं, हमने भी एक प्रतिक्रिया लिखी- ”सदाबहार काव्यालय का सृजन प्रारंभ होने की पृष्ठभूमि बहुत ही रोचक भी है और रोमांचक भी. हुआ यह कि अचानक हमारे सामने एक साइट आ गई- ‘काव्यालय’. इसमें अनेक नए-पुराने श्रेष्ठतम कवियों के साथ मेरी एक […]

गीतिका/ग़ज़ल

ग़ज़ल

प्यार  मुहब्बत  आम  करेंगे। दुनिया  भर  में  नाम  करेंगे। नफरत  जो  फैलाते  जगमें, रस्ता  उनका   जाम  करेंगे। हमें सफलता प्यारी अजहद, बढ़कर  आगे   काम  करेंगे।  दिल में मेरे  प्यार वतन का, रह कर  भी  गुमनाम करेंगे। साथ तुम्हारे   बीता  दिन  ये, साथ  तुम्हारे   शाम   करेंगे। — हमीद कानपुरी

हास्य व्यंग्य

व्यंग्य – मैं और कीड़ा

कहते हैं मनुष्य के दिमाग में एक कीड़ा होता है, जो समय-बेसमय पर उसे काटता रहता है। उस दिन कीड़े ने मुझे काटा और पूछा-“क्यों रे मानव खोपड़ी, ये मिलावट क्या होती है? तू इस पर विश्वास करता है?” मैंने कहा-”भैया मेरे, मिलावट पर विश्वास न करना भगवान पर अविश्वास करने के समान है। बिना […]

समाचार

मधुशाला काव्य गौरव सम्मान से सम्मानित हुए कांगड़ा के राजीव डोगरा

उदयपुर: साहित्य के क्षेत्र में विशेष योगदान देने वाले कांगड़ा के युवा कवि अध्यापक व साहित्यकार राजीव डोगरा को उदयपुर से वर्ष 2019 का मधुशाला साहित्यिक काव्य गौरव सम्मान मिला । बता दे कि राजीव डोगरा  का साहित्य के क्षेत्र में बहुमूल्य योगदान रहा है । हिंदी भाषा को तदवद रूप से अंगिकित करने में […]