सामाजिक

रिजल्ट ही सबकुछ नहीं है जीवन मे

परीक्षा मे ज्यादा नम्बर लेकर आना ही जीवन की राह तय नहीं करता ! इसके साथ – साथ ज्ञान भी जरूरी है ! सिर्फ अच्छे नम्बर से कोई जीवन मे सफलता हासिल नहीं कर सकता है ! ना ही डिवीज़न से ! कभी – कभी थर्ड डिवीज़न वाला भी आई.ए.एस, डॉक्टर, इंजीनियर, सी.ए बन जाता  […]

कविता

होली आई रे

होली आई रे आई रे होली आई रे , जीवन को रंगों से रंगायी रे , मन मे पुलकित पंख लगायी रे, लाल हरा रंग रंगाई रे ! होली आई रे आई रे होली आई रे , मन तन के दिल मे आग लगायी रे , जीवन को मदहोश करायी रे , मन में बसंत […]

कविता

मै क्या करूँ

मै क्या करूँ , समझ नहीं पा रहा हूं , आखिर क्यों मै इतना सोचता हू  , मै इतना जीवन के सपने देखता था , मै क्यों इतना पागल होता हूं , दिल मे हमेशा दर्दो का महफिल लगा होता है , आंखों में हमेशा आंसू भरा रहता है , आखिर क्यों ऐसा मेरे साथ […]

भजन/भावगीत

भगवान शिव

जहाँ सारा दुनिया जिसकी शरण मे , नमन है उस भगवान शिव के चरण मे , हम बने उस महाकाल के चरणों की धूल , आओ हम – सब मिल कर चढ़ाये  उनके चरणों में श्रद्धा के फूल ! महाकाल की हमेशा बनी रहे मुझ पर छाया , पलट दे मेरी किस्मत की काया , […]

कविता

सारा जहाँ जिसकी शरण मे

जहाँ सारा दुनिया जिसकी शरण मे , नमन है उस भगवान शिव के चरण मे , हम बने उस महाकाल के चरणों की धूल , आओ हम – सब मिल कर चढ़ाये  उनके चरणों में श्रद्धा के फूल ! महाकाल की हमेशा बनी रहे मुझ पर छाया , पलट दे मेरी किस्मत की काया , […]

समाचार

बिहार के रुपेश को “वगिश्वरी पूज्ज-2021” मिला

बिहार के सीवान जिले के चैनपुर गांव के भीष्म प्रसाद के पुत्र युवा साहित्यकार रुपेश कुमार को ‘विश्व जन चेतना ट्रस्ट भारत’ से “वगिश्वरी पुज्ज – 2021” सम्मान से बसंत पंचमी 17 फरवरी 2021 को सम्मानित किया गया ! रूपेश भौतिक विज्ञान के छात्र होते हुए साहित्य में गहरी रुचि रखते है ! इनकी साहित्य […]

कविता

आजादी के झंडे

आजादी के झंडे को हम , आत्मविश्वास से फहराएंगे , जीवन की उपलब्धियों को हम , देश के नाम करायेंगे , संविधान के अनुच्छेदों को , शब्द-शब्द हम देश के काम लाएंगे , आजादी के लहू को हम , जीवन भर याद रखेंगे , 26 जनवरी को शपथग्रहण कर , सविधान की लाज बचायेंगे , […]

सामाजिक

मेरे जीवन के कुछ अधुरे शब्द

जीवन मे मुझे कुछ शब्दों से काफी नाराज़गी मिली जो कभी पूरा हुआ ही नही भले उसे किसी तरह उपयोग किया जाये अगर हुआ भी तो सिर्फ भाग्य-वालो का ही ! जैसे – रिश्ता जिसमे कभी ना कभी मन-मुटाव आ ही जाता है कैसा भी रिश्ता हो माँ से बेटा का , पिता से बेटा […]

कविता

नया साल नया दौर

जीवन के रंग मे खुशियों के संग मे , सुबह की लाली, घटा शाम की तन्हाई मे , हरे-भरे पेड़ों पर ,चिड़िया चहकती रहें , खेत-खलिहानों में,फसल लहलहाती रहे , नयी रोशनी में , नये  जीवन की शुरुआत हो , सबको जीने की नई दिशा, नयी राह मिले। गाँव मे खुशियों की, नयी सौगात हो […]

कविता

दीपावली आयी है 

दीपो का दिवाली आयी है , दीप जगमगाते दिवाली आयी है , मीठे मीठे मिष्ठान लेकर आयी है , लाल, पीले, हरे , नारंगी लेकर आयी है , धरती के मिट्टी से दीप जलाएंगे , दुनिया मे प्रेम का मिलन कराएंगे , चक-मक दीपों का त्यौहार आयी है , दीपों का पर्व दीपावली आयी है […]