हास्य व्यंग्य

हास्य व्यंग्य- किसम किसम के लोग

इन दो महीनो में जितना ‘वाट्सएप’ चलाया है, उतना कभी नहीं चलाया था। इससे प्राप्त ज्ञान व अनुभव के आधार पर कुछ नए किस्म के लोगों से परिचय हुआ, इन लोगों में वे शामिल नहीं हैं जो बिना नागा,तीसों दिन अलसुबह “गुड माॅर्निंग” शुभ प्रभात के किसी उपदेशात्मक संदेश को वाट्सएप पर भेजते हैं…! या […]

विविध

स्वच्छता का अर्थ सिर्फ शरीर की ही सफाई से नहीं है

स्वच्छ मन में स्वच्छ तन संभव है । स्वच्छता हमारे लिए अत्यंत आवश्यक है । घर सहित आस – पास और बाहर भी स्वच्छ रखना हम सबकी जिम्मेदारी है । सभी लोगों के सक्रिय सहयोग से ही स्वच्छता बनी रहेगी । स्वच्छता का अर्थ सिर्फ शरीर की ही सफाई से नहीं है । घर के […]

लेख विविध

भारतीय रिज़र्व बैंक के लोगो, पत्रमुद्रा व नोटों सहित नोट निर्गमन पद्धति में खामियाँ ?

भारतीय रिज़र्व बैंक के लोगो, पत्रमुद्रा व नोटों सहित नोट निर्गमन पद्धति में खामियाँ ? वित्त मंत्रालय, भारत सरकार ने दि.14.11.2016 के अखबारों में बड़ा-सा विज्ञापन प्रकाशित कराया, जो www.paisaboltahai.rbi.in के द्रष्टव्यश: है । प्रकाशित विज्ञापन का शीर्षक है- “अब आपके बैंकनोट नए डिजाईन में : भारतीय रिज़र्व बैंक द्वारा नई श्रृंखला में ₹2000 और ₹500 […]

अन्य लेख विविध

वकीलों की फीस

जनसाधारण से लेकर वीआइपी तक एसडीओ कोर्ट से लेकर सर्वोच्च न्यायालय में न्याय की आस में पहुंचते हैं, जहां रसूखदार लोग तो मोटी फीस देकर अपने मुकदमे की पैरवी के लिए अच्छे वकील रख लेते हैं. परंतु कानूनी जानकारी नहीं होने के कारण साधारण लोग शीघ्र न्याय पाने की लालसा में ऐसे वकील के फीस […]

विविध

हिंदी में नोबेल !

अगर किसी की रचना अंग्रेजी में अनूदित होकर विश्वस्तर पर छा रही है, तो इस शर्तिया ध्यान दिया जाता है कि यथोक्त वर्ष वह लेखक व कवि ‘नोबेल’ के लिए नॉमिनेट हो ! यह नॉमिनेशन स्वीडिश अकादेमी के मेंबर्स करते हैं अथवा पूर्व के उस विधा के नोबेल पुरस्कार विजेता ! गुरुदेव रवीन्द्रनाथ ठाकुर की […]

समाचार

कवयित्री विश्वफूल को ‘राष्ट्रीय कबीर पुरस्कार’

महाकवि नागार्जुन ट्रस्ट, मधुबनी ने सुश्री स्वर्णलता ‘विश्वफूल’ को ‘राष्ट्रीय कबीर पुरस्कार 2007’ प्रदान किया, तो लिखा, “हिंदी कविता में महत्वपूर्ण योगदान , खासकर हिंदी दलित कविता लेखन के क्षेत्र में अवदान के लिए यह पुरस्कार दिया जा रहा है । महाकवि नागार्जुन ट्रस्ट ने इससे पूर्व प्रो. अरुण कमल, डॉ. खगेन्द्र ठाकुर, त्रिपुरा के […]

समाचार

फाउंडेशन की ऑनलाइन कवि गोष्ठी का आयोजन

मंडला-ईशान फाउण्डेशन, बरेली द्वारा एक और शानदार ऑनलाइन काव्य गोष्ठी का आयोजन किया गया। जिसमें सहभागी रहे जाने माने कविगण थे -डा. शरदनारायण खरे, मंडला,डा.अनिल शर्मा मयंक,भोपाल,श्रीमती दुर्गारानी श्रीवास्तव, भोपाल,श्रीमती सुषमा श्रीवास्तव, भोपालश्री गिरीश द्विवेदी, बरेली । स्वनामधन्य साहित्यकार प्रो.शरद नारायण खरे ने बेहतरीन गीतों के माध्यम से समां बांध दिया ।उनका गीत -“दिल छोटे […]

हास्य व्यंग्य

सब धान बाईस पसेरी

बिहार के नियोजित शिक्षकों का विजन 2020 यानी उनकी सोच लिए एक बिल्कुल ही नई व डेब्यू सरकार के साथ नियोजित शिक्षक केंद्रित हो ! अगर परिवार में किसी को चपरासी की नौकरी है, तो उनके बच्चे डॉक्टर, इंजीनियर या आईएएस नहीं होंगे क्या ? एक शिक्षक के चावल व आलू-प्याज चुराने से या छात्रा […]

लेख विविध

‘योग’ को आयु से जोड़ना गलत है

‘योग’ शब्द ‘युज’ में ज पर हलन्त से बना धातु से निःसृत है । ज़िन्दगी के रेलमपेल में एक गरीब व्यक्ति इतने शारीरिक कसरत करते हैं कि यह उनके लिए योग है । योग के लिए अपने-अपने आसन हैं । क्रीड़ा और टहलना भी योग है । लोग यह क्रिया प्रतिदिन करते हैं। अगर विविध […]

समाचार

राजीव डोगरा ‘विमल’ डॉ अन्नपूर्णा भदौरिया श्रेष्ठ रचनाकार सम्मान 2019 से सम्मानित

कांगड़ा के युवा कवि राजीव डोगरा ‘विमल’ को साहित्य एक्सप्रेस तथा आदित्य संस्कृत पत्रिका ने डॉ अन्नपूर्णा भदौरिया श्रेष्ठ रचनाकार सम्मान 2019 से सम्मानित किया।उनको यह सम्मान उनकी साहित्य सेवाओं के लिए सम्पादक भानु शर्मा के द्वारा दिया गया।सम्मान मिलने पर उनके पिता हंसराज माता सरोज कुमारी और बड़े भाई पीएचडी शोधकर्ता अमित डोगरा,रविंदर नरयाल […]