लेख विज्ञान

कृत्रिम उपग्रहों की उड़ान में भारत सबसे आगे

तारीख 15 फ़रवरी 2017 दिन बुधवार समय सुबह की 9 बजकर 28 मिनट PSLV C-37 ने उडान भरी और मात्र 28 मिनट यानि 9 बजकर 56 मिनट पर भारतीय अंतरिक्ष अनुसन्धान संगठन ( ISRO) ने एक ही रॉकेट से रिकॉर्ड-तोड़ 104 उपग्रहों का सफल और किफायती प्रक्षेपण कर वह मुकाम हासिल कर ली जो अमेरिका […]

पर्यावरण लेख विज्ञान

भारत में पक्षियों के अध्ययनशास्त्री

भारत के प्रसिद्ध पक्षी वैज्ञानिक मो. सलीम अली ने भी इस पर बेइंतहा कार्य किये हैं, वहीं लखनऊ की लेखिका श्रीमती संतोषी दास लिखती हैं कि गौरैया की चूं चूं अब चंद घरों में ही सिमट कर रह गई है। एक समय था जब उनकी आवाज़ सुबह और शाम को आंगन में सुनाई पड़ती थी। […]

पर्यावरण लेख विज्ञान

मोबाइल टावर से निकलनेवाली तरंगपुंज हैं क्षतिकारक या लाभदायक ?

मैं मोबाइल टावर की बात नहीं कर रहा, किंतु अगर लगातार मोबाइल व्यवहार से उपयोगकर्त्ता को क्षति पहुंच सकती है, तो असंख्य चालू मोबाइलों से निःसृत rays and radiation की उपस्थिति मात्र से यह छोटी चिड़िया के दियाद-गोतिया विनष्ट होने के कगार पर क्यों नहीं पहुँच सकती है, सिर्फ गोरैया की नहीं ! छोटी चिड़िया […]

लेख विज्ञान

गणितज्ञ कार्ल फ्रेडरिक गौस के ‘त्रिभुज संख्या’ को चुनौती !

जर्मन गणितज्ञ कार्ल फ्रेडरिक गौस या गॉस या गाउस को गणित का राजकुमार भी कहा जाता है। गॉस का गणित और विज्ञान के विभिन्न क्षेत्रों में अविस्मरणीय अवदान है, उन्होंने गणित को ‘विज्ञान की रानी’ कहा है। गणितज्ञ गौस के अनुसार, किसी संख्या को त्रिभुज संख्या (0, 1, 3, 6, 10, 15, 21…..) के योग के रूप में […]

लेख विज्ञान

प्राइम नंबर्स फॉर्मूला !

कोई भी संख्या अभाज्य संख्या है या नहीं, इसे जानने के लिए सर्वप्रथम उस संख्या का वर्गमूल निकाल लीजिए । प्राप्त वर्गमूल संख्या में से अगर दशमलव के बाद अंक हो, तो उसे उपयोग में नहीं आते हैं, अपितु दशमलव से पहले जो संख्या आती है, उस संख्या को +1 कर जो संख्या प्राप्त होती […]

लेख विज्ञान

फर्मेट के अंतिम प्रमेय ‘आभाहीन’ हुए !

पाइथागोरस प्रमेय (p^2 + b^2) = h^2 को लेकर पियरे D’ FERMAT ने एक कल्पना प्रस्तुत किया था कि उक्त प्रमेय की भांति (p^n + b^n) = h^n में n = कोई भी संख्या हो सकता है या नहीं ! इसे FERMAT का अंतिम प्रमेय FLT कहा जाता है, किन्तु इसपर ध्यान देने से स्पष्ट […]

लेख विज्ञान

सूर्यग्रहण या चंद्रग्रहण दोष या अवगुण नहीं !

सूर्यग्रहण या चंद्रग्रहण कोई दोष या अवगुण नहीं है, यह वैज्ञानिकता लिए है, जो कि किसी धार्मिक कर्मकांड से जुड़ी नहीं है यानी ग्रहण के समय या बाद में लोगों के या परिवार के अन्य सदस्यों के साथ अछूत व्यवहार करना और नदियों में लाखों की संख्या में स्नानादि कर अन्य लोगों के लिए असुविधा […]

पर्यावरण लेख विज्ञान

असम्बद्ध वस्तुस्थितियों के अध्ययन से ‘भूकम्प’ पर भविष्यवाणी संभव ?

मोबाइल फोन के 2 सिम्पल सेट में एक को हम sound वाइब्रेशन में रखकर उसे पृष्ठ भाग के सहारे सपाट प्लास्टर की हुई बरामदे पर रखते हैं, दूसरे मोबाइल फोन से वाइब्रेशन वाले मोबाइल सेट पर फोन लगाते हैं, तो यह एन्टी-क्लॉक गति से घूमने का प्रयास करती है, वहीं मोबाइल के स्क्रीन साइड को […]

लेख विज्ञान

1 से 1,00,000 तक की संख्याओं का वर्गमूल निकालने की आसान विधि

1 से 1,00,000 तक की संख्याओं का वर्गमूल निकालने की आसान विधि विधि (1.) 3 अंकों की संख्याओं का वर्गमूल निकालने के लिए संख्या के प्रथम अंक को इस दृष्टि से उपयोग में लाते हैं, ताकि वह किसी पूर्ण वर्ग में या उसके सन्निकट आ जाए । फिर मौखिक रूप से उक्त गुणन के दोनों […]

पर्यावरण विज्ञान

प्लास्टिक खानेवाले कीड़े पर रिसर्च !

सूचना का अधिकार अधिनियम-2005 के अंतर्गत केंद्रीय सूचना आयोग (C.I.C.) में ‘द्वितीय अपील’ वाद (case) दायर करनेवाली भारत की पहली महिला हैं अर्चना कुमारी पॉल। इसतरह से पहली महिला  RTI एक्टिविस्ट भी हैं । आल इंडिया रेडियो के एक कार्यक्रम ‘पब्लिक स्पीक’ के माध्यम से इनकी खोज ‘प्लास्टिक खानेवाले कीड़े’ पर विशद चर्चा चली, जिनके पेटेंट […]