Category : कथा साहित्य

  • आत्मविश्वास

    आत्मविश्वास

    लघु कथा ” आत्माविश्वास ” आज भी सुबह सैर करने निकली तो मन आनंदित तथा ऊर्जावान था। भोर के सूर्योदय एवं उसकी रक्तिम आभा सदा ही मेरा मन मोह लेता है। भोर की शुरुआत अब तो...

  • दो शब्द

    दो शब्द

    कहते हैं- दो शब्द सहनुभूति के सब दुःख-दर्द भुला देते हैं, दो शब्द कठोरता के सारे जीवन की मधुरिम कमाई को मिट्टी में मिला देते हैं. क्या अपने कभी यह सुना कि याददाश्त भूले व्यक्ति को...


  • मोबाइल चोर

    मोबाइल चोर

    “ईश्वर सब देखता है, जब उसकी बेआवाज़ लाठी पड़ती है तो न्याय होकर ही रहता है।जो दूसरों के सामान पर अपनी नीयत खराब करते हैं, उनका कभी भला नहीं हो सकता।” अम्माजी के स्वर में बस...

  • नाम करेगा रोशन

    नाम करेगा रोशन

    सुमित्रा अपने कमरे में टहल रही थी। उनका मन काफी उद्विग्न था। बाहर से आ रही आवाजें उन्हें और भी बैचेन कर रही थी।चार ही तो दिन हुए थे माणिक के बाबूजी को गए हुए और...


  • किडनी-उपहार

    किडनी-उपहार

    किडनी ट्रांसप्लांट के बाद सोनिका अब स्वस्थ हैं. सोनिका की दो बेटियां हैं, जो अपनी मां को फिर से स्वस्थ देखकर खुश हैं. सोनिका ने कहा कि वह अपनी सासू मां के प्रति बहुत आभारी हैं,...



  • प्रतिभागिता

    प्रतिभागिता

    आज रेणुका की खुशी का ठिकाना नहीं था. सुबह-सुबह स्कूल की प्रार्थना सभा में एक सह अध्यापिका निमी ने रेणुका को बधाई दी. ”बधाई के लिए बधाई, लेकिन यह तो बताओ किस बात की बधाई?” ”बनो...