Category : भजन/भावगीत

  • मेरी विनती सुनो हे अविनाशी

    मेरी विनती सुनो हे अविनाशी

    मेरी विनती सुनो हे अविनाशी, मेरी विनती सुनो हे अविनाशी मंगल कर दो, झोलियां भर दो, हे शंकर हे कैलाशी- मेरी विनती—– 1.तुम जानो मेरी किसमें भलाई, कहलाते घट-घट वासी- 2.आनंद की वर्षा प्रभु कर दो,...

  • जय शिवशंकर बोले जा 

    जय शिवशंकर बोले जा 

    जय शिवशंकर, जय शिवशंकर, जय शिवशंकर, बोले जा शिवशंकर के जाप से किस्मत के तालों को खोले जा-   1.जिसने भी शिव-नाम जपा है, वह तो मालामाल हुआ शिवशंकर-नैय्या के भरोसे, भवसागर से पार हुआ प्रेम-प्यार...

  • शिव भजन- तारकासुर-वध

    शिव भजन- तारकासुर-वध

    तारकासुर को मारने वाले, हे परमेश्वर स्वामी सबकी रक्षा करते हो तुम, घट-घट अंतर्यामी भगवन जय हो तेरी, भगवन जय हो तेरी (2)   1.जब-जब धर्म की हानि होती, अधर्म है शीश उठाता तब-तब दानव को...

  • शिव भजन- गौरां की लगन-पत्रिका

    शिव भजन- गौरां की लगन-पत्रिका

    पंडित जीSSS, गौरां की शुभ लगन लिखी क्या बतलाओ पंडित जीSSS, कैसा वर पाएगी गौरां बतलाओ-   1.तीन लोक का स्वामी दूल्हा पाएगी गौरां रानी मत घबराना गौरां का दूल्हा होगा महा कल्याणी पंडित जीSSS, नाम-पता...

  • नए घर की हो बधाई

    नए घर की हो बधाई

    सदा रहे खुशहाली घर में रौनक हो मुस्कानों की लाली घर में रौनक हो नए घर की हो बधाई घर में रौनक हो-   1.स्वस्थ रहें घर के सब वासी, दूर रहे इस घर से उदासी...


  • राम जी संवारेंगे तेरे सारे काम

    राम जी संवारेंगे तेरे सारे काम

    जय सियाराम जय-जय सियाराम, राम जी संवारेंगे तेरे सारे काम 1.राम तेरी नैय्या पार करेंगे प्रभु तेरी पतवार बनेंगे सबके खिवैया हैं सियाराम, राम जी संवारेंगे तेरे सारे काम-   2.दीन दुखी को दे दो सहारा...

  • गुरु-भजन

    गुरु-भजन

    सेवा-सिमरन-सत्संग की शुभ राह मुझे दिखलादे                                 6.3.14 जीव नहीं मैं ब्रह्म-स्वरूप हूं यों रहना सिखलादे गुरुवर जय हो तेरी, गुरुवर...