भजन/भावगीत

प्रार्थना

हे ईश्वर ! हे दाता सुन लो विनती हमारी। इतनी हिम्मत, ताकत से हमको भर दो, बाल बांका न कर सके यह बीमारी। है विश्वास हमें तेरी शक्ति पर हमें विश्वास तेरी भक्ति पर, घर-घर में आनंद मंगल होगा महिमा तेरी सारे जग से निराली। हे ईश्वर ! हे दाता सुन लो विनती हमारी। जीवन […]

भजन/भावगीत

मां दक्षिणेश्वरी काली कल्याण करो

जागो जागो माँ रणचंडी जन जन का कल्याण करो। उठो उठो मां दक्षिणेश्वरी काली बच्चों का हाथ पकड़ अब उनको प्यार करो। कांप रही थर थर दुनिया तेरे अट्हास से। अब तो बच्चों का उद्धार करो। जपत निरंतर नाम तेरो ओम दक्षिणेश्वरी काली नमः सब का माँ कल्याण करो। तीनो लोक कांप रहे। तेरे क्रोध […]

भजन/भावगीत

हे ! ईश्वर

हे ! ईश्वर सिद्धों की वाणी में नाथों के चिमटे में योगियों के योग में देखा है मैंने तुमको हर एक इंसान में। कुंडलिनी के जागरण में सहस्त्रार के गमन में त्रिनेत्र की ऊर्जा में आज्ञा चक्र की आज्ञा में हर पल महसूस किया है मैना तुम्हें उस विद्युत ऊर्जा में। मूलाधार की सौंदर्य लहरी […]

भजन/भावगीत

हरिगीतिका छन्द वंदना

विनती सुनो प्रभु पातकी की ,भय क्षरण  मम कीजिये  । निष्काम मेरी प्रार्थना  प्रभु ,रख पगों में लीजिये । तुलसी सजी हो बीच तन पर ,अंत हो जब श्वास का । जल गंग का मुख में डले तब ,प्रश्न हो जब प्यास का । मुझको पुकारें आप जिस  क्षण , तिथि रहे एकादशी। पाऊँ जनम […]

भजन/भावगीत

शिवरात्रि के अवसर पर कुछ भजन

शिवरात्रि पर विशेष भजन-1. मेरे शिवशंकर की महिमा अपरम्पार जो शिव का स्मरण करते हैं, उनका बेड़ा पार-मेरे शिवशंकर की————– 1.जटाजूट में सोहे गंगा मस्तक पर है प्यारा चंदा सर्पों के आभूषण सोहें, सर्पों की है माल-मेरे शिवशंकर की————– 2.वामभाग में गौरां सोहे गोद में गणपत मन को मोहे नन्दिगण पे करें सवारी, कैलाशों में […]

भजन/भावगीत

शिव आराधना

डम डम डम शिव डमरू बाजे, तीन लोक करते जयकार । पार्वती के प्रीतम प्यारे ,    जग के हो प्रभु ,पालनहार । सब देवों के देव कहाते, अविनाशी को कोटि प्रणाम, ज्योतिर्मय है रूप तुम्हारा ,अद्भुत लिंग अनेकों नाम , हे नटराजन है दुख भंजन, शरणागत हम आये  द्वार । पार्वती के प्रीतम प्यारे […]

भजन/भावगीत

हर दिन को पर्व बनाए जा

शिवरात्रि पर विशेष गाए जा, गाए जा, गाए जा, तू गीत प्रभु के गाए जा बनाए जा, बनाए जा, बनाए जा, हर दिन को पर्व बनाए जा- 1.तेरे मन में प्रभु हैं समाए, हर रंग के सुमन खिलाए रंगाए जा, रंगाए जा, रंगाए जा, प्रभु-रग में मन को रंगाए जा- 2.हर सुबह रवि की लाली, […]

भजन/भावगीत

शिवरात्रि विशेष

जगत के पालनहारी जय जय जय भोले भंडारी। ललाट चंद्र, जटा गंग मुख तेज, नेत्र त्रिअंग हाथ त्रिशूल डमरू मृगछाल पडे अंग। शरीर लगे भस्म साँप लेटे संग भूत पिशाच की यारी भांग धथूर लगे प्यारी ऐसे हैं भोले भंडारी। उनकी महिमा कोई न जाने पर सभी उन्ही को माने सबको संकट से उबारे बोले […]

भजन/भावगीत

शुभ सभी संचार दे

अखिलेश्वरी, भुवनेश्वरी, सर्वेश्वरी माँ शारदे सम्बल हमें दे लेखनी का ज्ञान का आधार दे हे शुभ्र वसना तू सदा रहना मेरे संग-साथ ही वीणा की ध्वनि कानों में हो मसि लेखनी हो सहचरी शत् जन्म लूँ भारत में मैं, इतना मुझे अधिकार दे जहाँ वेद गाते यश तेरा होता है गान कुरान का वह देश […]

भजन/भावगीत

मां शारदे *

हम अज्ञानी और अल्प बुद्धि है, मां शारदे इतना उपकार करो। हम सब के अन्तर्मन में, झंकृत वीणा तार करो। अन्दर ऐसा भाव जगाओ, जन-जन का उपकार करे। हम से यदि त्रुटियां हो जाय, उनको तुम माफ़ करो मां। निर्मल करके तन मन सारा, सकल विकार मिटाओ मां। बुरा न देखें बुरा कहें मत, विनय […]