Category : भजन/भावगीत

  • नौ दिन माता के

    नौ दिन माता के

      जय अंबे ,अष्ट भवानी अंबे माँ सिंह भवानी जय माँ, जगदंबे अंबे माँ।। १)जय माँ शैलपुत्री ,आ जाओ मेरी माँ, धन – धान्यप्रदायिनी मेरी माँ । शेर पर सवारी कर ,दुष्टों का संहार करो माँ।।...


  • सम्पूर्ण गणेशोत्सव (गीति-नाटिका)

    सम्पूर्ण गणेशोत्सव (गीति-नाटिका)

    गणेशोत्सव के सभी अवसरों के लिए स्वरचित भजन पर आधारित काव्य रूपक गणपति बप्पा मोरिया, मंगल मूर्त्ति मोरिया 1.प्रतीक्षा गणदेवा आएंगे, खुशियों ने खबर दी है सब काम बनाएंगे, खुशियों ने खबर दी है- 1.जीवन की...


  • गणेश जी की महिमा

    गणेश जी की महिमा

    ऐ विघ्नहर्ता ऐ मंगलकर्ता तू ही दुखहर्ता तू ही सुखकर्ता, एकदंत गजबदन को मेरा बारंबार प्रणाम । चारों ओर मची है धूम गणेश उत्सव की, जीवन में छाई नई आशा उल्लास और उमंग की । बच्चे...

  • मुझे अपना बना लो गोविंदा

    मुझे अपना बना लो गोविंदा

    मुझे अपना बना लो गोविंदा चरणों में बिठा लो गोविंदा- मुझे अपना बना लो गोविंदा———– तुम मुरली मधुर बजाते हो सुनते हैं रास रचाते हो मुझे रास दिखादो गोविंदा- मुझे अपना बना लो गोविंदा———–   मीरा...


  • द्वार खुले प्रभु रखते

    द्वार खुले प्रभु रखते

    भक्तों को दर्शन देने को द्वार खुले प्रभु रखते  इसीलिए भोले कहलाते इतनी कृपा करते-तेरी जय हो भोले, तेरी जय हो भोले(2) 1.सबको देते महल-माड़ियां, खुद पर्वत पर रहते आनंद-ही-आनंद देते चाहे भक्त शिकायत करते- तेरी...


  • कांवड़िया कांवड़ लाए हैं

    कांवड़िया कांवड़ लाए हैं

    चलो शिवशंकर के द्वारे, कांवड़िया कांवड़ लाए हैं   कांवड़िया कांवड़ लाए हैं, कांवड़िया कांवड़ लाए हैं- 1.शिव की जटा में गंगा-धारा, कांवड़ में गंगाजल प्यारा दोनों का मेल कराएंगे कांवड़िया कांवड़ लाए हैं-चलो शिवशंकर——————- 2.श्रद्धा से...