Category : कथा साहित्य

  • प्यास बढ़ाओ

    प्यास बढ़ाओ

    अभी-अभी स्नेहा के पी.एच.डी. गाइड का बधाई का फोन आया था. बिहार के लोकगीतों पर उसका शोध स्वीकृत कर लिया गया था. स्नेहा बहुत खुश थी. उसने फोन करके अनेक प्रियजनों को भी यह शुभ समाचार...

  • हवा का रुख

    हवा का रुख

    हर समय हंसती-मुस्कुराती हुई नताशा को देखकर कोई नहीं कह सकता कि इसके अंदर इतना तूफान समाया हुआ है. आज शाम को उसे मेरे रूप में एक अच्छा श्रोता मिल गया और उसका गुब्बार बाहर उमड़...

  • पवित्र पाप (लघुकथा)

    पवित्र पाप (लघुकथा)

    “अरे पिता जी! आप…. इस समय?” शमशेर अपने पिताजी को रात के 10 बजे अपनी बैरक में देखकर हैरान था। शमशेर दूरदराज़ के एक छोटे-से गाँव का नौजवान है, जो अपनी कड़ी मेहनत से फ़ौज में...

  • यादों का बसेरा

    यादों का बसेरा

    सर्दियों की शाम खिड़की के पास बैठकर काफी पीना उसका पंसदिदा शौक था, हमेशा वह इसी तरह बाहर के नजारे देखा करती । पार्क मे खेलते बच्चे ,चिडि़यों का चहचहा कर नीड़ की तरफ लौटने का...

  • ब्यूटी क्वीन

    ब्यूटी क्वीन

    अभी-अभी ब्यूटी क्वीन के परिणाम की उद्घोषणा हुई थी- ”मिसेज इंडिया कर्नाटक 2018 के खिताब की विजेता हैं 31 वर्षीय सोनिया सिंह.” सोनिया के लिए तालियों की गड़गड़ाहट के साथ पूरा सभागार गूंज उठा. उसे ताज...




  • प्रेम की प्यास

    प्रेम की प्यास

    एक समय था जब जितेंद्र सबसे खुशहाल व्यक्तियों में से एक था. अमीर तो वह आज भी है. उसके पास धन की कमी नहीं है, लेकिन प्रेम की प्यास उसे तृप्त नहीं होने दे रही. जब तक उसकी...

  • जीरो फिगर

    जीरो फिगर

    नींद ना आने के कारण रीमा ने टीवी चला दिया पति गहरी निद्रा में सो रहे थे| रात के साढे बारह बज रहे थे| टीवी पर किसी क्लिम टी की बात हो रही थी मात्र तीन...