Category : कथा साहित्य

  • पछतावे के आँसू

    पछतावे के आँसू

    बड़ा बेटा अजय और छोटी बेटी रमा . एक बेटा और एक बेटी पाकर शर्मा परिवार बहुत खुश था. बच्चों की परवरिश और शिक्षा में उन्होंने कोई कमी नहीं रखी थी. बच्चे भी माता-पिता का बहुत...


  • चॉकलेट

    चॉकलेट

     किशोर की एक छोटी सी परचून की दुकान थी । अचानक उसकी नजर दुकान के सामने रखे खोखे में से चॉकलेट के  चोरी की कोशिश कर रहे दो अधनंगे गंदे से भिखारी जैसे बच्चों पर पड़ी...

  • सात दिन की माँ

    सात दिन की माँ

    भारत देश की सबसे सौभाग्यशाली स्त्री वो होती है जो स्वयं स्त्री होते हुए लड़के को जन्म दे, फिर भागवती को चार-चार लड़के थे। भला उससे ज़्यादा भाग्यशाली कौन हो सकता है? तिस पर भी अब...

  • “धीमी गति का समाचार”

    “धीमी गति का समाचार”

    आज कल दूरदर्शन पर जितने मनोरंजन के चैनल हैं उससे कहीं अधिक समाचार के चैनल उपलब्ध हैं। हों भी क्यों नहीं, यही एक ऐसा पुख्ता माध्यम है जिससे आम से लेकर ख़ास तरह के लोग अपने...


  • सीख

    सीख

    “गुरु जी एक लघुकथा लिखने का विचार आया है” “तो लिख डालो, किस उलझन में हो! आधार बिंदु क्या है लेखन का?” “एक लड़का और एक लड़की बचपन से पड़ोस में रहते हैं… दोनों के बीच...


  • आधे पति परमेश्वर

    आधे पति परमेश्वर

    धनराज जी अपने बड़े सुपुत्र के लिए लड़की देखने आए हुए थे । मानसी को देखते ही उन्होंने उसे अपने बड़े बेटे हिमेश के लिए पसंद कर लिया था । नाश्ते के दौरान अपने घर और...

  • कहानी – उपयोगी वस्तुएं

    कहानी – उपयोगी वस्तुएं

    सुनील शहर का पड़ा लिखा एक नौजवान लड़का था । कद काठी और व्यक्तित्व में साधारण । सुल्तानपुर के एक बैंक में क्लर्क था । उम्र यही कोई पैंतीस के आसपास होगी। विवाह हो चुका था...