नवीनतम लेख/रचना

  • वीर माया का बलिदान

    वीर माया का बलिदान

    भारत की स्वतंत्रता की लड़ाई में जिस राज्य का महत्व पूर्ण योगदान रहा है वो गुजरात राज्य के पाटन याने की राजा सिढ्‍धराज जयसिंह का राज्य की पौराणिक कथा की जानकारी देना चाहते हैं, राजा सिद्ध...

  • पानी …

    पानी …

    बहते हुए पानी की बस इतनी कहानी है कि ये है तो हम है और हमारी जिंदगानी है । निर्झर कल-कल, छल-छल है जल इससे पल्लवित पोषित नभ-थल कितना पावन है ये जिसका रंग आसमानी है।...

  • शहीद दिवस (23 मार्च) पर कविता

    शहीद दिवस (23 मार्च) पर कविता

    धरती माँ के लाल भगत थे ,वीर अमर बलिदानी थे । आजादी  के दीवाने थे ,स्वतंत्रता सेनानी थे । हँसते हँसते गले लगाकर ,मृत्यू का मुख चूमा था । भारत माँ के जयकारों से ,वीरों का...

  • यादों के झरोखे से-1

    यादों के झरोखे से-1

    इनाम की अठन्नी आज से लगभग पचास वर्ष पूर्व की बात है, जब मैं छठी कक्षा में पढ़ती थी। तब हिन्दी और संस्कृत के अध्यापक प्रायः धोती पहना करते थे और पंडित जी कहलाते थे। हमारे...


  • ख़ामोशी

    ख़ामोशी

    जरा सोचना  तन्हाई में,खामोशी क्या  कहती है। मजलूम के होंठों  में दबी  चुप्पी  क्या  कहती है। अपने सपनों की खातिर, तुम जो  छोड आये हो, वो नदियाँ , वो गाँव की पगडण्डी क्या कहती है। आज...


  • फ़ानी दुनियां

    फ़ानी दुनियां

    फिर वही हम वही तनहाईयां है फिर वही आलम ए ख़ामोशियां हैं तीरगी फिर वही शब ए ग़म की गुमशुदा हो रही परछाईयां हैं सांसों के साथ चल रही छुपके आहों की चीखती सरगोशियां हैं कोई...

  • कविता- क़ुरबानी

    कविता- क़ुरबानी

    शौर्य त्याग बलिदान की कहानी लिखेंगे हम हिन्द के निवासी हिंदुस्तानी लिखेंगे। जो कर गए प्राण निछावर अपने देश के लिए उन्ही वीरो की आज हम क़ुरबानी लिखेंगे। सुभाष चंद्र बोस और आजाद की कहानी लिखेंगे...


राजनीति

कविता