Category : धर्म-संस्कृति-अध्यात्म








  • यज्ञ एवं प्रदुषण

    ओ३म् परमात्मा ने इस सृष्टि को जीवों के भोग व अपवर्ग (मोक्ष) के लिये बनाया है। परमात्मा द्वारा बनाई गई यह सृष्टि 1.96 अरब पुरानी होने पर आज भी हर दृष्टि से नवीनता व शुद्धता को...