Category : धर्म-संस्कृति-अध्यात्म

  • वर्षा ऋतु और वेद 

    वर्षा ऋतु और वेद 

    वर्षा ऋतु का आगमन हो गया है। भीष्म गर्मी के पश्चात वर्षा का जल जब तपती धरती पर गिरता है। तो गर्मी से न केवल राहत मिलती है।  अपितु चारों जीवन में नवीनता एवं वृद्धि का...

  • सत्यार्थ प्रकाश क्यों पढ़े?

    ओ३म् अच्छी ज्ञानवर्धक पुस्तकें सभी मनुष्यों को पढ़नी चाहियें। अनेक पुस्तकों को धार्मिक ग्रन्थों की संज्ञा दी जाती है। धार्मिक का अर्थ होता है जिसमें धर्म के विषय में जानकारी दी गई हो। धर्म शब्द संस्कृत...


  • कबीर दास और मूर्तिपूजा

    कबीर दास और मूर्तिपूजा

    (कबीर जयंती पर विशेष रूप से प्रकाशित) कबीर दास ने जीवन भर मूर्ति पूजा और साकार ईश्वर की उपासना का विरोध किया। पर समय का फेर देखिये जिन कबीर दास ने जीवन भर मूर्ति पूजा का...




  • आर्यसमाज और महात्मा गांधी

    आर्यसमाज और महात्मा गांधी

    (आर्यजगत के सुविख्यात विद्वान् पं० चमूपति जी के बलिदान दिवस पर, आज १५ जून को प्रकाशित यह लेख) लेखक- पं० चमूपति जी ‘यंग इंडिया’ में प्रकाशित महात्मा गांधी के लेख का वह अंश जिसमें ऋषि दयानन्द...